क्या आधार सुचना का गलत उपयोग करने पर दंड और जुर्माना लगाया जाता है?

हाँ –>

आधार सुचना का गलत उपयोग करने पर सरकार द्वारा दण्डित किया जा सकता है जो निम्न प्रकार से है|

  • अपने बायोमेट्रिक डेटा के स्थान पर किसी और के डेटा देने पर 3 साल की सजा व 10000 रुपय का जुर्माना|
  • सेन्ट्रल आइडेंटिटी डेटा रीपोजिटरी को हैक करने तथा उसका गलत उपयोग करने पर 3 साल की सजा व एक करोड़ रुपय का जुर्माना|
  • सेन्ट्रल आइडेंटिटी डेटा रीपोजिटरी के साथ छेड़छाड़ करने पर 3 साल की सजा तथा 10000 रुपय का जुर्माना|
  • जली आदमी बनकर झूठी जानकारी देने पर 3 साल की सजा तथा 10000 रुपय का जुर्माना|
  • आधार धारक की पहचान हड़पना तथा उसकी बायोमेट्रिक जानकारी मे बदलाव करने पर 3 साल की सजा तथा 10000 रुपय का जुर्माना|
  • किसी व्यक्ति की जानकारी लेने के लिए अधिक्रत संस्था का बताना भी जुर्म है इसके लिए एक व्यक्ति पर 10000 तथा संस्था पर एक लाख का जुर्माना|
Abhi vyas: