Abhiss's Profile

4937
Points

Questions
78

Answers
261

  • Asked 6 days ago in Career.

    MBA कैसे करे –

    देखिये आप आसानी से 12th के बाद MBA कर सकते है| Master of Business Administration (MBA) यु तो 2 साल का कोर्स होता है लेकिन अगर आप 12th के बाद करना चाहते है तो BBA+MBA 5 साल का कोर्से होगा –

    Check this –

    1. (Eligibility) MBA कौन कर सकता है|
    2. MBA की Fees कितनीं है|
    3. Best MBA College कौनसे है|
    • 59 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Do Follow Back link कैसे बनायें

    किसी भी वेबसाइट के लिये सबसे Important चीज है Users और यूज़र आता है इन दो चीजो से –

    • Good Content
    • SEO

    मान लेते है की आपने अच्छा Content बनाकर अपनी site पर डाल दिया पर जब तक Google में उसकी रैंकिंग नहीं बढेगी तब तक Users उस तक नहीं पहुँच पाएगा| और रैंकिंग बढ़ाने के लिये सबसे बड़ी चीज है SEO Back links जो काफी मायने रखते है| अगर आप Trusted Site पर link create कर पाते है तो आपकी Website की Ranking बढ़ेगी और User आप तक पहुँच पाएँगे|

    तो इस Article में हम बात करेंगे की English या Hindi Blog के लिये DO Follow link कैसे Create करे और अपनी Site को Rank करवाये, तो Back links Build करने के लिये आप इन तरीको का इस्तेमाल कर सकते है –

    #1 Guest Post

    #2 Directory Submission

    #3 Social Media Sharing like –

    • Facebook
    • Instagram
    • Linked
    • Medium
    • Quora
    • Tumblr
    • Twitter

    #4 Create YouTube Channel and Get Link

    #5 Give a Comments

    मुख्यरूप से आप इन तरीको से अपना Back link बना सकते है| इससे भी बेहतर Back link के लिये आप Wikipedia Page बना सकते है लेकिन उसके लिये थोड़ी ज्यादा knowledge की जरुरत होती और सभी विकिपीडिया नियमो का पालन करने पर ही आपको Page Create करने की Permission मिल पाएंगी|

    Related Post –

    This answer accepted by Sanjay Verma. 2 days ago Earned 1 points.

    • 57 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Asked on April 17, 2019 in Career.

    What is CS – Company Secretary

    CS का मतलब होता है Company Secretary जिसे हिंदी में कंपनी सचिव कहाँ जाता हैं| यह Institute of Company Secretaries of India (ICSI) द्वारा संचालित एक Course है जो 2 वर्षो का  होता है| इसमें आपको Company कैसे शुरू होती है से लेकर समापन तक की A to Z प्रक्रियाओ की जानकारी दी जाती है| 

    CS से जुड़े कई सारे सवालों के जवाब पहले ही दिये जा चुके है, जिन्हें आप देख सकते है –

    • 55 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Google Adword Keyword Planner For Android

    इसके लिये आप विडियो देख सकते है जिसमे Android में Google Keyword Planner को Use करने का तरीका बताया गया है –

    • 119 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Asked on April 17, 2019 in How to.

    How to Use Canva (Hindi) –

    Canva एक बेहतरीन वेबसाइट है| आप इसका इसका इस्तेमाल करते हुए अपनी Customize Image या Picture Create कर सकते है इसके साथ ही यह बहुत आसान और Free है | अगर आप Canva से Image बनाना चाहते है तो नीचे दिये गए Steps को Follow करे और अपनी पसंदीदा Image तैयार कर ले –

     

    1. सबसे पहले Canva पर जाए|
    2. अब अपना Account Create करे, आप Google से भी Sign Up कर सकते है|
    3. जिसके बाद आपको Home Page पर ही कई सारे Option मिल जाएँगे|
    4. जिसमे आप – Logo, Facebook Post & Cover, Book Cover, Instagram Picture, Thumbnail, CD Cover, Blog Post Image, Banner, Card आदि कई सारी चीजे बना सकते है|
    5. आप जिस भी तरह की Image बनाना चाहते है उसके Format को Select कर ले |
    6. जिसके बाद left side में आपको Temples, elements, Background, Text और भी कई सारी चीजे मिल जाएंगी|
    7. इनका इस्तेमाल आप अपनी Image को बेहतर बनाने के लिये कर सकते है|
    8. इसके आलावा आप Picture Upload, Colors Change, Position, Size आदि को भी बदल सकते है|
    9. आखिर में आप अपनी इच्छा अनुसार Image को किसी भी Type में Download कर सकते है वो भी Free में|
    10. और इस तरह आपकी Picture तैयार हो जाएगी|

     

    Related Post –

    • 38 views
    • 1 answers
    • 0 votes
    • 120 views
    • 1 answers
    • 0 votes
    • 132 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • E-way Bill Validity 

    E-way Bill की वैधता भेजे गए माल की दुरी पर निर्भर करती है| आपके द्वारा भेजा गया माल कितने किलोमीटर तक जाता है, उसके हिसाब से ई-वे बिल की Validity रहती है| आपके द्वारा भेजे गए माल की दुरी कितनी है और उसके E-way bill की वैधता कितनी है यह आप नीचे देख सकते है –

    RE: E-way Bill की Validity कितने समय तक रहती हैं?

    यानी अगर आप 100 किलोमीटर के अन्दर अपना माल भेजते है, तो उसके ई-वे बिल की वैधता 1 दिन तक रहती है, 100 से 300 किलोमीटर के बीच में Validity 3 दिन, 300 से 500 किलोमीटर के बीच 5 दिन, 500 से 1000 किलोमीटर के बीच 10 दिन और 1000 किलोमीटर से अधिक दुरी पर माल भेजने पर उसकी वैधता 15 दिन रहती है|

    • 1869 views
    • 2 answers
    • 0 votes
  • E-Way Bill 1 अप्रैल से लागू हो गया हैं और यह 50000 रूपये से अधिक के माल के आवागमन के लिए अनिवार्य हैं| ईवे बिल के Basic Concept को समझने के लिए इन लिंक्स को देख सकते हैं:

    E-way Bill जारी कैसे करे –

    GST में E-way Bill जो एक इलेक्ट्रॉनिक बिल है, माल की Supply में GST की भूमिका और प्रक्रिया को सरल बनाएगा| आप ई-वे बिल बहुत ही आसानी से Issue या Generate कर सकते है, सामान्यरूप से ई-वे बिल दो तरीकों से जारी किया जा सकता है –

    1. Website के माध्यम से Online और
    2. SMS के माध्यम द्वारा

    E-way Bill बनाने या जारी करने के लिए आपके पास यह Documents होने चाहिए और इन मुख्य आश्यकताओ को पूरा करना होगा –

    • E-way Bill के लिए Registration करे|
    • जिस माल से सबंधित आप ई-वे बिल बनाना चाहते है उसका बिल या चालान आपके पास होना चाहिए|
    • यदि माल का परिवहन सड़क द्वारा हो रहा है तो उस वाहन की परिवहन आईडी (Transport id) या वाहन के नंबर (Vehicle No.) और
    • यदि माल का परिवहन अन्य मार्ग द्वारा जैसे- रेल, प्लेन या जहाज द्वारा हो तो उनके दस्तावेजो पर परिवहन आईडी (Transport id), परिवहन दस्तावेज़ संख्या (Transport Documents No.) और तिथि (Date) होना आवश्यक है|

     

    E-way Bill की प्रक्रिया –

    इसके बाद हम अपना E-way Bill बनाने के लिए तैयार है, यह बहुत ही आसान है| आप Simple Steps को Follow करते हुए अपना E-way Bill Generate या Issue कर सकते है –

    1. सबसे पहले आपको Ewaybill.nic.in के Portal पर जाना होगा| जिसमे आपको इस तरह का Page मिलेगा, इसमे आपको अपना Username or Password डालकर, Captcha code भरकर login करना होगा|

    2. उसके बाद आपको E-way Bill के Option में Generate New के Sub-option पर click करना होगा|

    3. जिसके बाद आपके सामने E-way bill का Entry Form होगा| जिसे आपको सावधानी से भर देना है-

    a. सबसे पहले आपको लेनदेन का प्रकार (Transaction Type) सेलेक्ट करना होगा –

    • यदि आप माल के सप्लायर हैं तो ‘Outward‘ का चयन करें| और
    • अगर आप माल के प्राप्तकर्ता हैं तो ‘Inward‘ का चयन करें|

    b. उसके पास ही आपका जो Sub Type (उप प्रकार) है उसे सलेक्ट कर ले|

    c. उसके बाद Document के कोलम में जो दस्तावेज आपके पास हो – Invoice/बिल/चालान/Credit नोट/ Bill of Entry या अन्य का चयन कर ले|

    d. इसके बाद Document no. के कोलम में Document no./Invoice no. भरदे|

    e. Document Date में आप Invoice/चालान/दस्तावेज की तारीख सेलेक्ट करनी होगी| ध्यान रहे की Future की Date को System Accept नहीं करेगा|

    f. अब आपको FROM/TO के कोलम में अपनी और जिसे आप माल भेज रहे है उसकी Details होगी| From में जहाँ से माल आ रहा है या जो माल भेज रहा है और TO में जिसे माल भेज रहे है या जहाँ माल जा रहा है की जानकारी लिखी जाएगी| यह आप पर निर्भर करता है की आप Supply है या Receiver. इसमे आपको नाम, GST Number, Address, Place और Pin Code भरना होगा|

    नोट – अगर आपूर्तिकर्ता पंजीकृत नहीं है, तो GSTIN में URP का उल्लेख करें, जो यह कहता है की आपूर्तिकर्ता/ग्राहक एक ‘अपंजीकृत व्यक्ति’ है|

    g. इसके बाद Items Details में सभी जानकारिया HSN Code के अनुसार सेक्शन में भरदे| जैसे-

    • Product name
    • Description
    • HSN Code
    • Quantity,
    • Unit,
    • Value/Taxable value
    • Tax rates of CGST and SGST or IGST (in %)
    • Tax rate of Cess, if any charged (in %)

    h. उसके बाद Transport Details भरनी है जिसमे आपको Mode के कोलम में परिवहन के माध्यम – रोड/रेल/प्लेन/जहाज जो है को चुनना है और Approximate Distance Covered में लगभग कवर की गई दूरी को KM में लिखनी है| उसके बाद उपर्युक्त में से आप किसी भी एक विवरण की जानकारी भर सकते है –

    • Transporter का नाम, Transporter की id , Transporter का Document नंबर और तिथि या
    • वाहन नंबर जिसमें माल का परिवहन किया जा रहा है| इस प्रारूप में वाहन के नंबर लिखने है – AB12AB1234

    4. सब भरने के बाद Submit पर click करदे| जिसके बाद आपका E-way Bill Generate हो जाएगा और आपको 12 अंको का E-way Bill no. मिल जाएगा|

     

    अब आप E-way Bill का Print निकाल सकते है –

    1. E-way Bill के कोलम में आपको Print EWB के Option पर click करना है|

    2. अब आपको E-way Bill के 12 Digit वाले No. मांगे जाएँगे, जिन्हें भरने के बाद GO पर click कर देना है|

    3. जिसके बाद आपके सामने आपका E-way Bill होगा, उसमे सबसे नीचे Print या Detailed Print के option पर click करते ही आपको अपने E-way Bill का Print मिल जाएगा|

    • 5446 views
    • 2 answers
    • 0 votes
  • Proxy Server Full Information

    Proxy Server एक कंप्यूटर पर चलने वाला सॉफ़्टवेयर सिस्टम होता है, जिसे Endpoint Device कहते है| यह एक ऐसा फ़ंक्शन होता है जिसका उपयोग कंप्यूटरों द्वारा वेब पेज प्राप्त करने के लिए किया जाता है। यह एक तरह से किसी कंप्यूटर और एक अन्य सर्वर के बीच में कार्य करता है या यु कहे की यह दो संचारित दलों, ग्राहक और Server के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है।|

    Proxy Server की मोजुदगी में ग्राहक और Server के बीच में कोई सीधा अर्थात प्रत्यक्ष संचार नहीं होता है। इसके बजाय Proxy Server इन दोनों के बीच में रह कर दोनों को आपस में जोड़े रखता है|

    आम तौर पर Proxy Server का काम आपकी IP को गोपनीय रखते हुए, आपके द्वारा मांगी गई जानकारी को आपके सामने प्रदर्शित करना है|

    How Proxy Server Works – प्रॉक्सी सर्वर कैसे काम करता हैं

    जब आप अपने Computer से किसी Web Page या किसी Website को Search करते है, Proxy Server आपके दिए गए अनुरोध को प्राप्त करता है और Internet अर्थात Server को उस Web Page के लिए अनुरोध भेजता है, जिसके बाद वो Server अर्थात Internet उस Web Page और डाटा की जानकारी Proxy Server को देता है और वो जानकारी प्रॉक्सी सर्वर आपको प्रदान करता है|

    Proxy Server आपके इंटरनेट एक्सेस की दक्षता में सुधार करके उसे बढाता है| जिससे यदि आप किसी वेब पेज या Data या फ़ाइल को Search करते है, तो Proxy Server उस जानकारी को सर्वर पर Save यानी संग्रहीत कर देता है| जिसके बाद जब आप अगली बार उसी जानकारी के बारे में Search करंगे, तो आपको उसके लिए अनुरोध करने की जरुरत नहीं होगी| Proxy Server उस फ़ाइल को स्वचालित रूप से Load कर देगा|

    पढ़े – Exchange Server Kya Hai

     

    तो Proxy Server इस प्रकार से काम करता है –

    एक उदहारण से समझते है जैसे:- आप एक दुकान में गए और आपने दुकानदार को कहाँ की मुझे एक Pen चाहिए, तो आपकी उस बात को सुनकर उस दुकानदार ने अपनी दूकान में उस Pen को खोजा जो आपको चाहिए| अब जैसे ही वो पेन उसे मिला तो उसने आपको लाकर दे दिया|

    उस दुकानदार की तरह ही Proxy Server काम करता है और आपके किये गए अनुरोध पर आपको प्रतिकिर्या देता है| सामान्य शब्दों में कहे, तो यह आपको आपके द्वारा चाही गई जानकारी तक पहुँचाने का काम करता है|

    Proxy Server Types – प्रॉक्सी सर्वर के प्रकार 

    हर प्रकार के Proxy Server की प्राथमिकता यह होती है, की वह आपके IP Address को सुरक्षित और गोपनीय रखते हुए, आपकी मदद करे|

    Proxy Server कई प्रकार के होते है, लेकिन कुछ सामान्यतया उपयोग होने वाले प्रॉक्सी सर्वर इस प्रकार है:-

    Anonymous Proxy-

    यह एक बेनाम सर्वर है, इसे वेब प्रॉक्सी के नाम से भी जाना जाता है, आम तौर पर यह उपयोगकर्ता के मूल IP Address को छिपाने के लिए अच्छा है, क्योकि इस प्रकार के प्रॉक्सी सर्वर को ट्रैक करना मुश्किल होता है| इसलिए अधिकांश उपयोगकर्ताओं इसी का उपयोग करते है|

    Distorting Proxy-

    यह सर्वर खुद को पहचानने नहीं देता और एक गलत IP Address बताता है, ताकि कोई आपके IP Address तक ना पहुँच पाए| High

    Anonymity Proxy-

    इस प्रकार का प्रॉक्सी सर्वर खुद को प्रॉक्सी सर्वर के रूप में पहचान नहीं देता है और मूल IP पते को उपलब्ध नहीं करता है। यह प्रॉक्सी सर्वर के IP पत्ते के साथ REMOTE_ADDR हेडर शामिल करता है, जिससे यह प्रतीत होता है कि प्रॉक्सी सर्वर एक क्लाइंट है|

    Intercepting Proxy –

    एक अवरोधन प्रॉक्सी, जिसे पारदर्शी प्रॉक्सी भी कहा जाता है, यह एक Enter line के साथ एक प्रॉक्सी सर्वर को जोड़ती है| जिससे गेटवे के माध्यम से क्लाइंट ब्राउज़रों द्वारा की जाने वाली कनेक्शन को क्लाइंट-साइड कॉन्फ़िगरेशन के बिना प्रॉक्सी के माध्यम से रीडायरेक्ट किया जाता है|

    Reverse proxy-

    यह प्रॉक्सी सर्वर का एक और सामान्य रूप है और इसका उपयोग आम तौर पर इंटरनेट से फ़ायरवॉल के माध्यम से अलग निजी नेटवर्क के अनुरोध करने के लिए किया जाता है।

     

     

    • 1714 views
    • 1 answers
    • 0 votes