Gopal Vyas's Profile

4113
Points

Questions
130

Answers
134

  • Asked on August 31, 2019 in GST.

    वस्तु एवं सेवा कर का ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य (Historical Perspective of GST)

    सम्पूर्ण भारत में जम्मू एव कश्मीर सहित 1 July 2017 से GST लागु हो चूका है| वर्तमान में पूरी दुनिया में 160 से अधिक देशों ने  VAT या वस्तु एव सेवा कर GST लागू किया हुआ है। जिन देशों ने मूल्य वृद्धि कर (VAT) को वस्तु एवं सेवा कर (GST) के विकल्प के रूप में लागू किया है, उन देशों ने भी मूल्य वृद्धि कर को उपभोग अथवा गंतव्य स्थान पर कर के रूप में ही लागू किया है।

    RE: GST सबसे पहले कब और किन देशों में लागू हुआ?

    विश्व में वस्तु एवं सेवा कर का इतिहास (History of GST in World)

    विश्व में फ्रांस वह पहला देश है जिसने वर्ष 1954 में पहली बार वस्तु एवं सेवा कर अपने देश में लागू किया। इसके पश्चात् न्यूजीलैण्ड ने वर्ष 1986 में इसे लागू किया। विश्व में केवल कनाडा, ब्राजील जैसे कुछ ही देश है जहाँ भारत की तरह दो प्रकार का GST है : एक केन्द्र सरकार के लिए एवं दूसरा राज्य सरकारों के लिए। विश्व के सभी देशों में वस्तु एवं सेवा कर की दर 15% से 20% के मध्य है जबकि भारत में यह अधिकतम 28% तक है।

    RELATED>>>

    GSTR-2 क्या हैं?

    CGST क्या है

    SGST क्या है?

    GST में कितने प्रकार के Returns है?

    • 374 views
    • 1 answers
    • 1 votes
  • कच्ची हल्दी की सब्जी और अचार

    Anti-Bacterial व एंटीसेप्टिक गुणों से भरपूर कच्ची हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर होती है। गरम तासीर होने से इससे रोग प्रतिरोधकता बढ़ती है। कच्ची हल्दी सर्दियों  में मौसमी बीमारियों से बचाव करती है। संक्रमण, त्वचा, मधुमेह, कैंसर, चोट, जोड़ों के दर्द में यह बहुत फायदेमंद है।

    RE: कच्ची हल्दी की सब्जी और अचार कैसे बनाए?

    ऐसे बनाएं सब्जी >>>

    कच्ची हल्दी व प्याज घी में हल्का भूरा होने तक भूनें। दही में लाल मिर्च, नमक, धनिया मिला लें। फिर तड़के के लिए घी, सौंफ, अदरक व लहसुन पेस्ट, जीरा, हरी मिर्च व गरम मसाले का तड़का लगाएं। मसाला भूनकर उसमें दही का मिश्रण पकाकर, भुनें प्याज मिलाएं। बारीक कटे टमाटर, हल्दी पाउडर डालकर पकाएं। इसके बाद भुनी हल्दी मिलाकर घी छोड़ने तक पकाएं। कच्ची हल्दी की सब्जी बनाने से पहले कड़वाहट कम करने के लिए हल्दी छीलकर तीन घंटे दूध में भिगोकर छोड़ दें।

    कच्ची हल्दी का आचार >>>

    कच्ची हल्दी, हरी मिर्च, हल्दी पाउडर, नमक, राई, नींबू का रस, काला नमक, जीरा पाउडर कांच की बरनी में 12 घंटे तक धूप में रख दें। दूसरे दिन तेल में हींग, मेंथी दाना, कलौंजी का तड़का लगाकर अचार में मिला दें।

    चोट-दर्द में कारगार कच्ची हल्दी को कद्दूकस कर दूध में उबालकर पीने से जोड़ों के दर्द, पुरानी चोट, अनिद्रा, सर्दी में यह बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है।

    RELATED>>>

    हल्दी के क्या लाभ और उपयोग है?

    भिंडी की सूखी सब्जी कैसे बनाएं?

     

    • 307 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Asked on August 31, 2019 in Health In Hindi.

    दांतों का रंग सफ़ेद होने का कारण

    हमारे दांतों पर पाई जाने वाली बाहरी परत एनेमल कहलाती है। ये परत दांतों की सुरक्षा करती है। एनेमल शरीर का सबसे कठोर ऊतक होता है लेकिन इसके छोटे-छोटे टुकड़ों में दरार आने के बाद उनकी मरम्मत नहीं की जा सकती क्योंकि एनेमल मृत कोशिकाओं से बना होता है। एनेमल कमजोर होने पर दांत कमजोर होने की प्रक्रिया शुरू हो सकती है इसलिए दांतों की इस सुरक्षा परत का विशेष ध्यान रखना जरुरी होता है। ये एनेमल सफेद रंग की होती है इसलिए दांतों का रंग भी सफेद होता है।

    RELATED>>>

    टूथ इनेमल क्या होते है?

    मच्छर के कितने दांत होते हैं?

    दांतों और मसूड़ों की सुरक्षा कैसे करें?

    • 337 views
    • 1 answers
    • 1 votes
  • Asked on August 23, 2019 in India - भारत.

    राष्टपति कैसे पद को त्याग सकता है –

    भारत के संविधान में उपराष्ट्रपति का पद बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है| भारतीय संविधान के अनुसार यदि भारत के राष्ट्रपति की मृत्यु, पद त्याद, बर्खास्त, या अन्य किसी कारण से पद रिक्त हो जाता है तो उपराष्ट्रपति तब तक एक राष्ट्रपति के रूप में कार्य करेगा जब तक की नए राष्ट्रपति का चुनाव न हो जाए या उस समय का वर्तमान राष्ट्रपति अपने कार्यकाल में पुनः प्रभावी न हो जाए|

    लेकिन कभी कभी ऐसी स्थिति भी आ जाती है जब उपराष्ट्रपति का पद रिक्त हो तथा राष्ट्रपति को अपना त्याग पत्र देना हो| ऐसी परिस्थिति में भारतीय संविधान के अनुसार राज्यसभा का सभापति या राष्ट्रपति द्वारा चुने गए राज्यसभा के किसी भी सदस्य को कुछ समय के लिए राष्ट्रपति के पद पर बिठाया जाएगा|

    Related – 

    • 294 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • PUBG का पूरा नाम (Full Form)

    PUBG की Full-Form होती है – Player Unknown’s Battlegrounds (प्लेयर अननोन्स बैटलग्राउंड) जिसका हिंदी में अर्थ होता है – युद्धभूमि में अनजान खिलाडी| PUBG एक Online Game है, जिसे वर्ष 2018 में ऑनलाइन गेमिंग की दुनिया में काफी पसंद किया गया है तथा यह 2019 में अभी तक काफी हद तक Trend में है|

    Battle Royale Craze को PUBG ने मैच्योर अप्रोच के साथ आगे बढाया है और यही वजह है की इस Game को दुनिया भर में 20 लाख से अधिक लोग एक साथ खेलते है|

    RE: PUBG की फुल फॉर्म क्या हैं? - Full Form of PUBG in Hindi

    PUBG गेम PC, Android, iOS और Xbox One जैसे सभी Platforms पर उपलब्ध है| यह एक Action Based Free Game है, हालांकि इस गेम को ज्यादा System Specifications की जरुरत होती है| PUBG Game इतना चलन में हो गया है, की यह सभी लोगों को पसंद आता है, फिर चाहे वह बच्चे हो या जवान|

    Related Full Forms –

    This answer accepted by Vibhuti. on January 6, 2019 Earned 1 points.

    • 11218 views
    • 2 answers
    • 2 votes
  • Asked on August 7, 2019 in Business - व्यवसाय.

    New GST Registarion –

    GST Registration से जुड़े कई सारे सवालों के जवाब पहले ही दिए जा चुके है| आप उपर दिए गए Search Box में जाकर अपने सवाल सर्च कर सकते है और GST Registarion की Details के किए आप link पर जा सकते है|

    • 217 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • राजा हरिश्चंद्र फिल्म कास्ट –

    1913 में बनी बहुत ही पुरानी भारतीय फिल्म राजा हरिश्चंद एक short film थी| उस समय कोई Main Actor नहीं होता है, सारी टीम ही उतनी महत्वपूर्ण होती थी, जितना एक अकेला एक्टर आज के समय में होता है| तो मैं आपको पूरी Cast की जानकारी दे रहा हूँ, जिन्होंने उस फिल्म में काम किया है –

    1. D. D. Dabke
    2. Bhalachandra D. Phalke
    3. Ganpat G. Shinde
    4. Dattatreya Telang
    5. Dattatreya Kshirsagar
    6. Anna Salunke
    7. G.V. Sane
    8. P.G. Sane
    9. Vishnu Hari Aundhkar
    10. Nath T. Telang
    • 370 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Copyright Strike के बाद YouTube account को रिकवर कैसे करे –

    देखिए बहुत ही कम तरीके है जिससे आप अपना कॉपीराइट स्ट्राइक हटा कर चैनल वापस रिकवर कर सकते है| लेकिन अगर आप कोशिश करते है तो आपका चैनल आपको जरुर वापस मिल जाएगा| इसके लिए आपको जिसने भी स्ट्राइक भेजी है, उसे रिक्वेस्ट करनी होगी की वह स्ट्राइक को हटा ले| यह काम आपको 7 दिनों के अन्दर करना होगा, साथ ही आपको youtube से भी contact करके उसे रिक्वेस्ट करनी होगी|

    इस पूरी प्रोसेस को समझने के लिए इस विडियो को देखे – (आप विडियो को 2 मिनट आगे तक स्किप कर सकते है)

    • 253 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Asked on July 25, 2019 in Other.

    क्या भुत होते है –

    मेरे विश्वास करने या किसी और के विश्वास करने से सच छिपने वाला नहीं है| देखिए अगर सच है तो उसका उल्टा झूठ भी है, राम है तो रावण भी है, उजाला है तो अन्धकार भी है| उसी तरह अगर भगवान है तो शैतान या भुत भी होंगे ही| क्योकि यह केवल एक अफवाह नहीं हो सकती, कही ना कही से यह बात सच है क्योकि कई जगह ऐसी घटनाए देखी गई है जिसमे भूतो के होने की संभावना थी|

    Image result for ghost

    और यह तभी हो सकता है जब सच मे कोई ऐसी घटना हुई हो, यह उसी तरह की आग के बिना धुँआ नहीं उठता| और जहाँ तक मेरे जवाब पर आए तो मुझे नहीं पता| मेरे ख्याल में मुझे नहीं पता एक सही जवाब है की आपको नहीं पता यह चीज है की नहीं, तो उसकी खोज और अधिक जानकारी पाने की इच्छा बढ़ जाती है|

    • 193 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • Asked on July 25, 2019 in How to.

    अब Social Account से ग्राम प्रधान के खिलाफ करे शिकायत दर्ज –

    अब राज्य सरकारों द्वारा यह व्यवस्था बनाई गई है हर ग्राम प्रधान और पंचायत को अपना फेसबुक पेज, व्हाट्सएप अकाउंट, ट्विटर और जीमेल आईडी बनानी होगी| जिसके बाद आप Online ही Social account के साथ उनकी शिकायत कर सकते है| अगर आपको ग्राम प्रधान और विकास अधिकारी के खिलाफ शिकायत करनी है तो आपको कुछ बाते ध्यान रखनी होंगी –

    • आपकी शिकायत की वजह और सबूत ठोस होनी चाहिये|
    • ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत अधिकारियों की शिकायत के लिए 10 रुपये के स्टांप पेपर पर शपथ पत्र देना होगा|
    • यह सुविधा सभी राज्यों में ऑनलाइन नहीं हुई है तो आप शिकयत दर्ज करने के लिए आपको Nrega Govt Website पर जा सकते है|
    • क्योकि सभी मामले योजनो और Nrega से जुड़े होते है तो आप site पर जाकर फॉर्म भरकर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है|
    • लेकिन अगर आप MP से तो आप Social Account से शिकायत करने के लिए इस पेज पर जाए – http://cmhelpline.mp.gov.in/default.aspx
    • इसके साथ ही आप योजना से जुडी पूरी जानकारी भी प्राप्त कर पाएँगे और इसकी जानकारी दूसरो को भी दे सकते है|
    • शिकायत हो जाने के बाद अधिकारी उसकी जांच करंगे और दोषी पाए जाने पर दंड दिया जाएगा|
    • 341 views
    • 1 answers
    • 0 votes