Raman's Profile

2036
Points

Questions
121

Answers
110

  • DRDO Full Form –

    DRDO का मतलब होता है – Defence Research and Development Organization, जिसे हिंदी में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन कहा जाता है|

    DRDO Full Form

    यह भारतीय सरकार के रक्षा मंत्रालय के द्वारा अधिकृत एक संगठन है जहाँ भारत की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए जाते है|

    DRDO भारत में करीब 1958 में स्थापित हुआ था और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है| मुख्यरूप से यह रक्षा प्रणालियों को बेहतर बनाने के साथ साथ हथियार प्रणालियों और उपकरणों के उत्पादन को आवश्यकता अनुसार तीनो सेनाओ को उपलब्ध करवाती है|

    देश के लिए बड़े बड़े हथियार प्रदान करने से लेकर बड़ी बड़ी रक्षा योजनाए बनाने तक में DRDO की प्रमुख भूमिका है| इसमें करीब 5000 से ज्यादा के वैज्ञानिक और 25000 से ज्यादा के तकनीकी कर्मचारी काम करते है जो एक वर्ड लेवल उपलब्धि प्रदान करते है|

    Related Post –

    • 593 views
    • 1 answers
    • 2 votes
  • Asked on October 12, 2019 in Blogging.

    Keyword Planner 

    यह एक ऐसा Tool है जिसकी मदद से आप यह जान पाते है की Google पर Search होने वाले किसी भी Keyword की क्या Value है और हर महीने उस कीवर्ड को कितने लोग सर्च करते है|

    Basically यह एक कीवर्ड की CPC, Volume और Competition की जानकारी देता है|

    यह सभी डेटा पूरी तरह सही नहीं होते लेकिन आप इनसे एक अंदाजा लगा सकते है की कौनसा Keyword बेहतर है|

    Important Point

    Google Planner के Free option को हालं ही बदं कर दिया गया है तो आपका इस्तेमाल नहीं कर पाएँगे, लेकिन Free Keyword Tools के लिए इस link पर जानकारी प्राप्त कर सकते है|

    • 556 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • अपने बिज़नस को गूगल पर अभी लिस्ट करें – Use Google My Business

    अगर आप अपने बिज़नेस, दूकान या किसी भी छोटे बड़े व्यापार को इन्टरनेट पर दिखाना चाहते हैं तो इसके लिए बहुत सारे तरीके हैं जैसे अपनी वेबसाइट, सोशल मीडिया पेज, Advertising आदि|

    लेकिन सबसे बेहतरीन और आसान तरीका यह हैं कि आप “Google My Business” पर अपने व्यवसाय को लिस्ट कर सकते हैं, ताकि आपके बिज़नेस से Related कुछ भी Search होने पर User को आपके Business की Details मिल पाए|

    गूगल पर अपने बिज़नेस को list करे

    Google My Business क्या हैं और इसके फायदे –

    यह गूगल की एक Free Service है, जिस पर Business list किए जाते है और जिसके बाद आपके बिज़नेस की जानकारी –

    • Google Search
    • Google Map
    • Google Plus आदि पर दिखाई देती है|

    साथ ही User आपके बिज़नेस के –

    • Product
    • Location
    • Review
    • Contact Details
    • Owner Name आदि सबकी जानकारी प्राप्त कर पाता है|

     

    Register Your Business on Google My Business –

    Google Business पर लिस्ट करना बहुत ही आसान है, बिलकुल किसी Social Media Account बनाने जैसा –

    1. Google My Business पर लिस्टिंग के लिए आपके पास Gmail Account होना चाहिए|
    2. इसके बाद आप Google My Business के link पर क्लिक करे|
    3. अब आपको Start Now पर क्लिक करके अपनी पूरी जानकारी भरनी है जैसे – Business Name, Address, Mobile Number, Location, Business Category, Website (If you have), आदि|

     

    अधिक जानकारी के लिए आप यह विडियो भी देख सकते है –

    PIN Verification

    एक बार Google My Business में अकाउंट बनाने और पूरी जानकारी भरने के बाद आपको अपने एड्रेस को सही भरकर PIN Verification आप्शन को सेलेक्ट करना होगा|

    इसके बाद 1-2 हफ्ते के अन्दर ही आपके दिए हुए एड्रेस पर गूगल की तरफ से एक डाक/पोस्ट आएगी, जिसमें PIN होंगे| PIN मिलने के बाद आपको अपने गूगल माय बिज़नेस अकाउंट में लॉग इन करना हैं और PIN वेरिफिकेशन वाले आप्शन में PIN डालने हैं|

    एक बार PIN वेरिफिकेशन होने के बाद आपका Business गूगल में लिस्ट हो जाएगा|

    Related:

    This answer accepted by Anonymous. on October 8, 2019 Earned 1 points.

    • 630 views
    • 1 answers
    • 1 votes
  • GST में Registration Requirement को ऐसे समझे –

    Mandatory GST Registration

    समान्य रूप से GST में रजिस्ट्रेशन उस व्यक्ति को लेना पड़ेगा –

    1. जिसकी वार्षिक सेल 40 लाख रूपये (पूर्वी राज्यों में 40 लाख रूपये) हो या
    2. फिर वो व्यक्ति जो अपने राज्य से दूसरे राज्य में माल या सेवा की आपूर्ति करता हो|
    • 20574 views
    • 3 answers
    • 1 votes
  • GST के अंतर्गत पांच तरह की Tax Rates रखी गयी हैं| आवश्यक वस्तुओं पर कम दर हैं तो (Luxury) विलासिता की वस्तुओं और सेवाओं पर ज्यादा| GST के लागू होने बाद वर्तमान के Indirect Taxes जैसे Excise Duty, Service Tax और VAT आदि समाप्त हो गए है और वस्तुएं और सेवाओ के मूल्य में भी कमी आई है|

    किन वस्तुओ की कीमत में परिवर्बतन हुए है –

    GST Impact on PricesRE: GST में Tax किस दर (Rate) से लगेगा? GST से क्या महंगा और क्या सस्ता होगा?

    • 19175 views
    • 3 answers
    • 3 votes
  • Link Your Mobile Number With Bank Account

    अगर आपका मोबाइल आपके Bank Account से लिंक नहीं हैं तो फिर आप अपने मोबाइल का उपयोग करके बैंक बैलेंस चेक नहीं कर सकते| ऐसी स्थिति में आप या तो किसी नजदीकी ATM पर जाकर अपने ATM Card का उपयोग करके Bank Balance चेक कर सकते हैं या फिर बैंक में जाकर ही बैंक बैलेंस चेक कर सकते हैं|

    Link your Mobile Number with your Bank Account

    बैंक अकाउंट के साथ मोबाइल नंबर जोड़ना आवश्यक हैं नहीं तो आपके बहुत सारे काम रुक सकते हैं| इसलिए बेहतर यह हैं कि आप अपने बैंक अकाउंट से अपने मोबाइल नंबर लिंक करवा दें ताकि आप घर बैठे ही मोबाइल से बैंकिंग कर सकें और मोबाइल नंबर ना जोड़ने की वजह से आपके अकाउंट में कोई समस्या ना आये|

    मोबाइल नंबर कैसे link करे –

    बैंक अकाउंट के साथ Mobile नंबर रजिस्टर करने के लिए आप चाहें तो बैंक में जाकर फॉर्म भरकर अपना Mobile नंबर रजिस्टर करवा सकते हैं या फिर ATM में जाकर अपना मोबाइल रजिस्टर या नया मोबाइल नंबर अपडेट कर सकते है| ATM में “रजिस्ट्रेशन” आप्शन में “Mobile Registration” के आप्शन में जाकर “Change Mobile Number” पर जाकर अपना मोबाइल नंबर अपडेट कर सकते हैं|

    Related:

    • 6398 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • मुद्रा योजना Helpline Number –

    मुद्रा योजन की पूरी जानकारी और इसके लिए Apply करे|

    Website – www.mudra.org.in (ताज़ा update / information प्राप्त करने के लिये)

    Mail – [email protected] ( इस योजना के बारे मे किसी भी प्रकार की information के लिये)

    National Helpline Numbers Call – 1800 180 1111   AND  1800 11 0001

    देखे – मुद्रा लोन ना मिलने के कारण

    • 2555 views
    • 3 answers
    • 0 votes
  • Asked on June 24, 2019 in India - भारत.

    Mudra Loan Interest Rate

    50 हजार रूपये तक का शिशु मुद्रा लोन की ब्याज दर 12% होती हैं| 50 हजार रूपये से अधिक के लोन की ब्याज दर हर बैंक में अलग अलग होती हैं जो कि लोन की राशि और रीपेमेंट पीरियड आदि के आधार पर निर्धारित की जाती हैं| इस लोन की ब्याज दर 12% से 20% के आसपास होती हैं| इसलिए ब्याज किश्त की अवधि और बैंक द्वारा निर्धारित की गयी ब्याज दर पर निर्भर करता हैं|

    • 2646 views
    • 1 answers
    • 0 votes
  • SBI Personal Loan Interest Rates

    SBI Ke Personal Loan Ki Rates 11% Se 18% tak hoti hai aur isme karib 2-3% processing charge bhi lag jaata hai. SBI Ke Normal Loans Ke Alava Bhi Kai Tarah Ke Loans hai Jaise:

    Product Interest Rate
    Average Personal Loan Rate
    11.5% – 18%
    SBI Saral Loan 17.65% – 17.65%
    SBI Xpress Credit Loan 11.90% – 15.00%
    SBI Pension Loan 12.45% – 12.45%
    SBI Festival Loan 12.50% – 16.60%
    SBI Jai Jawan Pension Loan 12.45% – 12.45%

    SBI Ke Personal Loan Kam se Kam 6 Months aur adhiktam 48 months ke liye milta hai.

    SBI Personal Loan EMI Calculation

    Personal Loan emergency ki situation me hi lena chahiye kyonki is par interest rates bahut hi jyada hoti hai. Udaharan ke liye agar aap 16.5% Percent Ki Rate se 2 lakh rupaye ka loan 4 years ke liye lete hai to aapki EMI Calculation is prakar rahegi

    • Loan EMI – ₹ 5,750
    • Total Interest Payable – ₹ 76,016
    • Total Payment – (Principal + Interest) – ₹ 2,76,016

    Related Question  –

    • 701 views
    • 2 answers
    • 1 votes
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना – PM MUDRA Yojana 

    प्रधानमंत्री मुद्रा योजना जिसका पूरा नाम माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी लिमिटेड है, की शुरुवात 8 April 2015 में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी| PM मुद्रा योजना का मुद्रा ऋण देश के गैर कॉर्पोरेट छोटे व्यापारों के वित्त जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत सरकार का उपक्रम है। इसके पीछे का भाव यह है की छोटे से व्यवसाय के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना जो की भारतीय कामकाजी आबादी में बहुमत को रोजगार प्रदान करता है।

    अपने शुभारम्भ से लेकर अब तक प्रधानमंत्री MUDRA योजना (PMMY) या मुद्रा (माइक्रो इकाइयों विकास पुनर्वित्त एजेंसी) बैंकों में, केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री MUDRA योजना के तहत अब तक Rs.24,000 करोड़  देश भर में वितरित कर दिए गए हैं।

    मुद्रा लोन के बारे में – About Mudra Loan

    PM मुद्रा ऋण योजना के तहत सरकार ने एक 3-स्तर ऋण संरचना को  विभिन्न व्यवसायों की ओर लक्षित करते हुए उनके विस्तार और उनके व्यापर के स्तर के आधार पर विभाजित किया है। इस योजना के तीन स्तरों हैं:

    यह योजना (मुद्रा) के तहत ऋण के तीन प्रकार हैं:

    • शिशु: 50,000/ – रुपये तक के ऋण को कवर करता है
    • किशोर: 50,000 / – रुपये के ऊपर और 5 लाख रूपए तक ऋण को कवर करता है
    • तरुण: 5 लाख रूपये से ऊपर और 10 लाख रुपये तक के ऋण को कवर करने के लिए

    शिशु ऋण को स्टार्टअप के लिए डिज़ाइन किया गया है जबकि किशोर ऋण को कारोबार, जो पहले से ही शुरू कर दिए जा चुके हैं और खुद को स्थापित करने के लिए वित्तीय मदद चाहते हैं उनके लिए डिज़ाइन किया गया है। तरूण ऋण उन व्यवसायों के लिए है जो पहले से ही स्थापित हैं, लेकिन कारोबार के विस्तार के लिए वित्तीय सहायता चाहते हैं ।

    वर्तमान में मुद्रा योजना के तहत ऋण निम्नलिखित द्वारा दिए जा रहे हैं:

    • 27 पब्लिक बैंकों द्वारा
    • 17 निजी बैंकों द्वारा
    • 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों द्वारा
    • 4 सहकारी बैंकों द्वारा
    • 36 माइक्रोफाइनेंस संस्थाओं द्वारा
    • 25 गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं द्वारा

     

    मुद्रा योजना का उद्देश्य – Objectives of Mudra Yojana

    • मुद्रा की स्थापना का मुख्य उद्देश्य गैर कॉर्पोरेट छोटे व्यवसायों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है। भारत सरकार ने पहले ही कई योजनाएं शुरू की है जो छोटे व्यवसायों के लिए वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान करती हैं। मुद्रा एक तरह से देश के सूक्ष्म क्षेत्र का समर्थन करने के लिए है।
    • खाद्य सेवा, कारीगरों, विक्रेताओं और शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मुद्रा द्वारा बढ़ाया जाएगा दोनों अन्य सूक्ष्म व्यवसायों की तरह छोटे व्यवसायों को सहायता प्रदान कर रहा है ।
    • मुद्रा आम लोग के साथ वित्तीय संस्थानों कनेक्ट करेगा जो की अपने सूक्ष्म उद्यमों के लिए जिनको ऋण की जरूरत होती है ।

    यदि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को अच्छी तरह से लागू किया जायेगा, तो यह निश्चित रूप से इन छोटे व्यापार मालिकों जैसे कई लोगों के लिए एक वरदान साबित हो सकता है|

    मुद्रा योजना ऋण लेने के लिए योग्यताए – Eligibility for MUDRA Loan 

    सभी गैर-खेती सूक्ष्म व्यवसाय जो आय सृजन और 10 लाख तक या उससे अधिक आर्थिक सहायता की जरूरत हो वे इस ऋण के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंदर आवेदन कर सकते हैं जो की माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट और रिफिनांसिंग एजेंसी स्कीम के अंतगर्त शुरू की गई है। भाग लेने वाले बैंक, अर्थात् बैंक जो कि मुद्रा ऋण की देने के लिए तैयार हैं उनके सख्त पात्रता मानदंड है। उन सभी को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है की:

    • बैंक के पास 3 साल के सीधे लाभ रिकॉर्ड है।
    • उनके पास 3% या 3% से कम एनपीए है।
    • कम से कम 9% की सीआरएआर है। और
    • शुद्ध संपत्ति के तौर पर कम से कम 100 करोड़ रुपए होने चाहिए|

    जब तक इन आवश्यकताओं को बैंकों और गैर-बैंकिंग कंपनियों द्वारा पूरा नहीं किया जायेगा, वे किसी को MUDRA ऋण देने के योग्य नहीं होगा। Mudra Loan कौन ले सकता है?

     

    लोन लेने की विधि – Method for MUDRA Loan

    मुद्रा ऋण निकालने के लिए, एक आवेदक (अर्थात् एक उधारकर्ता) को पहले ऋण देने वाले अपने या अपने निकटतम बैंक की पहचान करनी होगी और अपनी व्यापार की योजना के साथ व्यक्तिगत रूप से बैंक जाना होगा। ऋण आवेदन को एक व्यापक व्यापार की योजना, पहचान पत्र, एड्रेस प्रूफ और पासपोर्ट तस्वीरों के साथ जमा करना होगा। एक बार सभी डॉक्यूमेंटेशन पूरी हो जाने के बाद, बैंक व्यापार की योजना और जरूरत की समीक्षा करेंगे। स्वीकृत होने पर,  बैंक से ऋण मंजूर होगा।

    Mudra Yojana Interest Rates –

    मुद्रा योजना में ब्याज दर सभी बैंक में अलग अलग है तो इसलिए आप दिए गए link से सभी Banks की अलग अलग Mudra Yojana Interest Rates का पता लगा सकते है|

    मुद्रा योजना की मुख्य विशेषताएं – MUDRA Yojana Key Features

    • माइक्रो यूनिट विकास एवं पुनर्वित्त एजेंसी लि. लोकप्रिय रूप में मुद्रा सूक्ष्म भारत सरकार द्वारा व्यापार का समर्थन करने के लिए गठित की गयी है। यह एक पुनर्वित्त एजेंसी है और एक प्रत्यक्ष वित्तीय संस्था नहीं है।
    • मुद्रा एक साझा मंच है, जहां इस तरह वित्तीय संस्थानों जैसे बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, एमएफआई, गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियाँ जो उनकी सूक्ष्म और लघु उद्यमों की स्थापना के लिए तैयार हैं आवेदकों को मिलेंगे।
    • इसको वित्त वर्ष 2016 के बजट घोषणा के दौरान स्थापित किया गया है और भारत के वित्त मंत्री द्वारा घोषणा की गई थी।
    • यह केवल उन उद्यमों को जो गैर कॉर्पोरेट छोटे व्यावसायिक क्षेत्रों के हैं उन्हें करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगा। इन क्षेत्रों के तहत एकमात्र प्रोप्रिएटर्स, साझेदारी फर्म, निर्माता, मशीनरी व्यापार और कई और कई अधिक को माना जा सकता है।

    सहायता की स्वीकृति संबंधित ऋण संस्था की योग्यता मानदंडों के अनुसार दी जाएगी। ऋण छोटे व्यापार की गतिविधियों / सूक्ष्म उद्यम शुरू करने के लिए जारी किया जाएगा| इन ऋण संस्थाओं को फिर वित्तीय सहायता के लिए मंजूर ऋण की पुनर्वित्त के लिए MUDRA बैंक जाना होगा|

    मुद्रा योजना Application Form –

    आप मुद्रा योजना आवेदन फॉर्म यहाँ से जाकर डाउनलोड कर सकते है – Mudra Loan Form

    मुद्रा स्कीम के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स –

    आप link पर जाकर मुद्रा योजना से जुड़े सभी जरुरी Documents की जानकारी प्राप्त कर सकते है|

    Related Questions –

    This answer accepted by Anonymous. on June 5, 2020 Earned 1 points.

    • 145155 views
    • 2 answers
    • 2 votes