ज़िंदगी क्या हैं ? कॉलेज के समय एक प्रतियोगीता में मुझे इस विषय पर 2मिनट तक बोलना था ! क्या आपने भी कभी इस प्रश्न का सामना किया हैं ? हाँ तो जवाब दें!

    बड़ी अजीब है ये जिंदगी ! हैं ना दोस्तों ! मेरी तरह ही आपकी या हर उस शक्स की जिंदगी इस धरती पर जन्म लेते ही शुरू हो गई है । अब जो है बस सफर चल रहा है, इसी बीच एक-दूसरे से मिलना-बिछड़ना, हँसना-रोना सब अंत तक चलता रहेगा ।

    Asked on August 12, 2017 in जीवन - Life.
    • Result

    Select your answer - End in August 12, 2018

    By submit your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.

    Results of this poll

    12 Votes
    58% जब कोई चीज उम्मीद के मुताबिक नहीं होती है । तब लगता है नाउम्मीद में भी आशा की किरण खोज़ना जिंदगी है ।
    25% मुझे आज भी याद हैं, मेरे 2 मिनट तो सोचने में ही बीत गए थे । मैं क्लासरूम से घर गया बहुत सोचा लेकिन सारे जवाब कशमकश वाले थे । जैसे - सफल होना जिंदगी है , मुस्कुराना जिंदगी है , नाम कमाना जिंदगी है और भी बहुत कुछ । आज पूरे 10 साल बीतने को है , बस इसी सवाल का जवाब ढूंढ रहा हूँ मैं । बहुत से जवाब मिलते है , लेकिन फिर कशमकश की स्थिति बन जाती है ।
    17% कभी-कभी लगता है, जिंदगी परेशानियों, तकलीफों, और मुसीबतों से लड़ने का नाम जिंदगी है ।
  • Be the first to post a comment.

    Add a comment