क्या आपको लगता है कि हिंदी ब्लॉग्गिंग का भविष्य सुनहरा है ???

    नमस्ते दोस्तों | जबसे गूगल एडसेंस हिंदी में शुरू हुआ है तब से हिंदी  ब्लोग्स की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ है| पिछले 6 महीनों में करीब 500+ से भी ज्यादा नए हिंदी ब्लोग्स बने है और तो और कई अंग्रेजी के बड़ी बड़ी मीडिया कम्पनियाँ और ब्लोग्गेर्स भी हिंदी ब्लॉग्गिंग और कंटेंट शेयरिंग के मैदान में कूद गए है| 

    वही दूसरी और Google Adsense से हिंदी ब्लोग्गेर्स की कमाई बहुत ही कम है| महीने के लाखो visitors आने के बावजूद कमाई कुछ हजार तक सिमित है| वही सर्वे यह बताते है कि आगे आने वाले वर्षों में हिंदी कंटेंट की डीमांड बढ़ेगी |

    कुछ ब्लोगर्स ने तो cpc को बढाने का बड़ा अच्छा तरीका निकाला है कि वे हिंदी को रोमन लिपि का उपयोग करके लिखने लगे है| इससे उनकी cpc 5-6 गुना बढ़ गयी है|

    क्या आपको लगता है कि हिंदी ब्लॉग्गिंग का भविष्य सुनहरा है????   

    Add Comment
  • 11 Answer(s)

      Mere hisab se Hindi blogging ka bhavishya bahut accha hai…..kabhi hindi ko internet par koi bhi nahi puchta tha lekin aaj log hindi me bahut kuch search karte hain…….aaj hindi bloggers Adsense ka fayeda le rahe hain to kal high CPC ka fayeda bhi milega……..Google bhi Hindi par bahut dhyan de raha hai…..Rahi baat topic ki to Motivation ek bahut accha topic hai, iske alava health aur food se related topics par bhi blogs ban chuke hain….jesi dimand hogi vese blogs aage bante chale jayenge…..america ke aur bharat ke topics me bahut antar aaj se 10 saal baad bhi hoga kyoki dono jagaho ki demand aur atmosphere bilkul alag hain……rahi baat roman english ki to mere hisab se Google aane wale samay me is par action jarur lega aur ese blogs ka CPC bahut neeche aa jayegi……….

      Answered on June 9, 2016.

      sir सही कहा आपने

      on June 5, 2017.
      Add Comment

        Mujhe lagta hai competition bahu badh gaya hai aur har raj naye naye hindi blogs ban rahe hai.
        Ek baate maine notice ki hai ki google hindi ko badhava dene ke liye kaam kar raha hai aur isi disha me google ne mobile browser me hindi search ko front page par jagah di hai.

        Lekin samasya yah hai ki jyadatar log bhidchaal me chal rahe hai aur ya to ve motivational blog banate hai ya fir blogging par hinglish blog. Isase competition badhta hai. lekin ek baat to tay hai ki jo quality maintain katega vahi aage badh paayega

        Answered on June 9, 2016.
        Add Comment

          आज कल एक और मुसीबत आ गयी है| एड ब्लॉकर जिससे विज्ञापन को ब्लाक किया जा सकता है| एड ब्लॉकर की तादात दिन ब दिन बढती जा रही है| लोग एड ब्लॉकर एप डाउनलोड करके विज्ञापन को ब्लाक कर देते है जिससे ब्लॉगर और वेबसाइट के मालिक को नुक्सान होता है| हालांकि गूगल हमेशा एड ब्लाक के खिलाफ रहा है और इसीलिए अभी तक एंड्राइड में एड ब्लॉकर एप नहीं है लेकिन कुछ browsers है जिन्होंने एड ब्लाक फीचर को ब्राउज़र में ही शामिल कर दिया है |

          हालांकि गूगल इसके खिलाफ जरूर कुछ न कुछ कदम उठाएगा |

          Answered on June 10, 2016.
          Add Comment

            Aaj kal to har koi hindi blog bana raha hai. Quality par koi dhyan nahi de raha. sab log search engine me aage aane ke liye likhte hai. Aur to aur yah samajh me nahi aa raha ki sab log motivation topic par hi kyu likh rahe hai. Dusare hajaro vishay hai

            Answered on June 9, 2016.
            Add Comment

              निश्चित रूप से…
              मेरे इस ब्लॉग ‘मिथिलेश२०२०.कॉम (mithilesh2020.com)  को भी देखें.

              Answered on June 22, 2016.
              Add Comment

                मुझे लगता है हिन्दी ब्लागिंग का भविश्य सुनेहरा है,
                वर्तमान मे लोगों को हिन्दी में जानकारी प्राप्त करना बहुत अच्छा लगता है
                और हिन्दी मे खोज करना भी बहुत बड़ रहा है,
                लोग हिन्दी मे पढना बहुत पसंद कर रहे है,
                यहाँ कुछ लोगों को इंग्लिश पढना नही आता तो वे हिन्दी मे पढना पसंद करते हैं
                मुझे लगता है आने वाले दिनो मे हिन्दी पढने वालों की संख्या मे बहुत वृध्धी होगा!

                Answered on February 15, 2017.
                Add Comment

                  हिंदी ब्लॉग्गिंग में निश्चित रूप से अपार संभावनाएं है और कंटेट की डीमांड बहुत ज्यादा होगी लेकिन इसके साथ साथ बहुत सारी चुनौतियाँ भी हैं | आजकल ज्यादातर नए ब्लॉगर जल्दी से जल्दी पैसे कमाने के चक्कर में जल्दी से जल्दी अधिक से अधिक कंटेंट पब्लिश करने की कोशिश करते है जिससे कंटेंट की क्वालिटी कम हो रही है | दूसरी तरफ सारे नए ब्लॉगर एक ही विषय पर ब्लॉग बनाने की दौड़ में शामिल हो रहे है|

                  एक समस्या यह भी हो रही है कि हिंदी भाषा इन्टरनेट पर किस तरह से पढ़ी और लिखी जाएगी, यह कोई नहीं जानता | कुछ लोग हिंगलिश में ब्लॉग्गिंग कर रहे है और कुछ लोग मूल हिंदी को ही चुन रहे हैं |

                   

                  Answered on August 17, 2016.
                  Add Comment

                    yes

                    Answered on February 12, 2017.
                    Add Comment

                      Yes

                      Answered on February 16, 2017.
                      Add Comment

                        hindi  blogs padne ka maja hi alag hota hai. jab hum hindi blogs padten hain ek andar se alag se feelings aati hai or samajhne me bhi aasan hoti hai. kionki ye hamari matri bhasa hai. dimag nahi lagana padta hai samajhne me. hum har haal me hindi blogs ko badawa dena chahiye. 

                        Add Comment

                        Your Answer

                        By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.