मादक पदार्थ क्या है? नशाखोरी के बारे में आप क्या जानते है? maadak padaarth kya hai? nashaakhoree ke baare mein aap kya jaanate hai?

नशाखोरी के कुछ वयवहारिक लक्षणों के नाम बताएं

Add Comment
  • 1 Answer(s)

    मादक पदार्थ क्या है?

    मादक पदार्थ वह है जिसके सेवन से व्यक्ति को नशा हो जाता है अर्थात वह अपनी सामान्य स्थिति से हट जाता हैइन भोज्य पदार्थों से अपनी संवेदना को प्रभावित करता हुआ पाते है। इसके अंतर्गत व्यक्ति बीड़ी सिगरेट, तम्बाकू हुक्का पीने अथवा स्मैक, हीरोइन, गांजा, अफीम, चरस, तथा शराब, डोडा नशे की गोलियां तथा इंजेक्शन व अन्य प्रकार की दवाइयों का सेवन है

    नशाखोरी : नशाख़ोरी आधुनिक समाज का अभिशाप है, यह समस्या पूरे विश्व में फैल गई है। प्राकृतिक या कृत्रिम नशे के बारबार उपयोग से उत्पन्न व्यक्ति और समाज के लिए हानिकारक एक खास समय तक चलने वाली आवर्ती और चिरकालिक नशे की अवस्था को नशाख़ोरी कहते हैनशाखोरी के विभिन्न लक्षण है। इसके हानिकारक और विनाशकारी प्रभाव के कारण पूरा विश्व इस विभीषिका से त्रस्त हो उठा है। यह समाज के लिए खतरा बन गया है। इसने बहुत से नवयुवकों, महिलाओं, बच्चों की जिंदगी बर्बाद कर दी हैयह महाविद्यालय के छात्रों में तेजी से फैलता जा रहा है। नशे के दुरूपयोग के बहुत सारे कारण हैये वातावरण, परिवार, अभिजात वर्ग, शरीरिक बनावट, व्यक्तित्व इत्यादि से सम्बंधित हो सकते हैविशेषज्ञों और चिकित्सकों ने इन कारणो को निम्नलिखित चार भागों में बांटा है:

    प्राणि विज्ञान से सम्बंधित सिद्धांत : ये सिद्धांत शारीरिक व्यसन के जैवचिकित्सा पैटर्न पर आधारित है इन सिद्धांतों में नशे की लत को इन्द्रिजन्य उत्तेजना या शिथिलता कहा गया है।
    व्यक्तिक सम्बन्धी सिद्धांत: नशे के व्यसनी बर्ताव को व्यक्तित्व का विखंडन कहा गया है जिसमें व्यक्तिगत विशेषताएं गौण हो जाती है
    अन्तवैयक्तिक सिद्धांत : इन सिद्धांतों में दूसरे महत्त्वपूर्ण लोगों के साथ सम्बन्ध पर जोर दिया जाता है ये मातापिता या अभिजात वर्ग के प्रभाव को स्वीकार करते है और नशे की प्रवृति को परिवार या समुदाय में अपनी पहचान बनाने का साधन बनते है
    सामाजिकसांस्कृतिक सिद्धांत : समाज की आर्थिक जातिगत और सांस्कृतिक भिन्नताओं के विस्तृत परिप्रेक्ष्य में इन सिद्धांतों में नशे की लत की व्याख्या की गयी है

    नशाखोरी के कुछ व्यवहारिक लक्षण

    नशा करने वालो के शरीर पर नशीली दवाइयों से उत्पन्न विभिन्न लक्षण निम्नलिखित है:

    1. नशेड़ी के कदम लड़खड़ाते रहते है और शरीर में स्थिरता का अभाव दिखाई देता है।
    2.
    चेहरा पीला पड़ जाता है उसके चेहरे पर चमक का पूर्ण अभाव हो जाता है।
    3.
    मानसिक संतुलन बिगड़ जाता है।
    4.
    पाचन यंत्र निष्क्रिय हो जाता है तथा तेजाबी अंश उसके आमाशय की शक्ति को कम कर देता है।
    5.
    मांसपेशियों की कार्यक्षमता कम हो जाती है जिस कारण उनमें  कार्य करने की ताकत कम हो जाती है।
    6. कैंसर और दमे जैसी बीमारियां लग जाती है।
    7.
    स्नायुतंत्र के कमजोर हो जाने से स्मरण शक्ति कम हो जाती है।
    8.
    लापरवाही की आदत पड़ जाती है।
    9.
    शरीर के सभी अंगों में समन्वय नहीं हो पाता।
    10.
    पैरो का तापमान सामान्य व्यक्ति से 18 डिग्रीग्रेड कम हो जाता है

    Add Comment

    Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.