यूरो मुद्रा बाजार (Euro currency market) क्या है ?

    यूरो मुद्रा बाजार की विशेषताएं क्या होती है? यूरो मुद्रा का संचालन कोन करता है ? तथा इसके कार्य क्या – क्या होते है ?

    Add Comment
  • 1 Answer(s)

      यूरो मुद्रा बाजार (euro currency market) का अर्थ केवल किसी स्थान से नहीं बल्कि उस पूरी जगह से है जहाँ यूरो मुद्रा को खरीदा – बेचा व उससे संबन्धित लेनदेन होती है | दुसरे शब्दों मे यह एक अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा बाजार है | जिसने उन मुद्राओ के लेनदेन मे विशिष्टता प्राप्त कर ली है जो की अपने निर्गमन देश के बाहर है |

      किसी अर्थसास्त्री ने कहा था की यूरो बाजार मुख्यतः यूरोप मे स्थित ऐसा बाजार है जहा विश्व की मुख्य परिवर्तनशील मुद्राओ मे उधार लिये व दिए जाते है | इस प्रकार यूरो मुद्रा बाजार एक अन्तर्राष्ट्रीय बाजार है जो पुरे विश्व मे फैला हुआ है | यूरो मुद्रा मे सौदा करने वाले बैंक, दलाल, आदि सभी देशो मे रहते है | विदेशी यूरो मुद्रा बाजार अन्तर्विपणन के लिए अतिरिक्त साधन उपलब्ध कराने मे महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है |

      यूरो मुद्रा बाजार (euro currency market) की विशेषताएं निम्न है |

      1 यह यूरो मुद्रा बाजार यूरो मुद्रा के क्रय – विक्रय होने वाली जगह को व्यक्त करता है |

      2 यूरो मुद्रा बाजार का उदगम सर्वप्रथम यूरोपीय देशों मे हुआ अतः यूरो शब्द का प्रयोग होने लगा |

      3 यूरो मुद्रा बाजार मे गेर निवासीयों द्वारा घरेलू मुद्रा के अतिरक्त विदेशी मुद्रा निक्षेपो के क्रय-विक्रय के सोदे किये जाते है |

      4 यूरो मुद्रा बाजार प्रारम्भ मे यूरोपीय देशो तक सिमित था किन्तु तेज विस्तार के कारण यूरो मुद्रा बाजार आज विश्व के 70 देशो तक बढ़ गया है |

      5 इसके प्रमुख अंग वे सब बैंक ,वितीय व मोद्रिक संस्थाएं ,सरकारे है | जो यूरो मुद्रा के क्रय-विक्रय संबधित उधार लेनदेन मे भाग लेते है |

      6 यूरो मुद्रा बाजार मे प्रारम्भ से ही यूरो मुद्रा डॉलर की प्रधानता रही है | अब भी यूरो मुद्रा सोदे मे यूरो डॉलर का भाग 70 से 80% तक होता है |

      7 यूरो मुद्रा बाजार मे सरकारी हस्तक्षेप व नियंत्रण बहुत कम होता है |डॉलर संकट के बाद से यूरो मुद्रा बाजार के नियंत्रण मे सरकारी हस्तक्षेप की प्रवर्ती प्रबल होने लगी है |

      8 यह बाजार गेर सरकारी है | सरकार ने न तो यूरो मुद्रा बाजार का विकास किया है और न ही हस्तक्षेप केटी है |

      9 यूरो मुद्रा बाजार मे असुरक्षित लोन दिया जाता है | इसमे विश्व के लगभग 750 बैंक कार्य करते है |

      10 इसमे जमाओ पर ब्याज दिया जाता है | यह निक्षेप व ग्राहक दोनों के लिए लाभकारी है |

      11 यूरो मुद्रा बाजार मे 10लाख डॉलर तुल्य या इससे बड़ी राशियों के सोदे की प्रधानता है |

      12 यूरो मुद्रा बाजार मे हाजिर सोदे होते है | इसमे अग्रिम सोदे की व्यवस्था नहीं है | व

      यूरो मुद्रा बाजार द्वारा विनियोग की सुविधाए ,उधार की सुविधाए अन्य भी महत्वपूर्ण कार्य किये जाते है |

      यूरो मुद्रा बाजार (euro currency market) के कार्य

      1 यूरो मुद्रा बाजार का प्रमुख कार्य व्यापारियों ,बैंकों ,सरकारों व वित्तीय संस्थाओ को अपने अतिरिक्त विदेशी विनिमय कोर्स को विदाई बैंकों मे विनियोग की सुविधा प्रदान करता है |

      2 यूरो मुद्रा बाजार मे वभिन्न देशो की मुद्राओ को उधार ले सकने का अवसर मिलता है | अतः यूरो मुद्रा बाजार अल्पकालीन अन्तर्राष्ट्रीय वित की पूर्ति करता है |

      3  अन्तर्राष्ट्रीय भुगतानों में विनिमय दरो में होने वाले उतार-चढ़ाव की जोखिम से बचने, विनिमय दरों में अंतर का लाभ उठाने के लिये मुद्रा के आदान –प्रदान होते है |

      4  यूरो मुद्रा बाजार से भुगतान संतुलन बनाये रखने मे सहायता मिलती है | क्योकि स्वयं को कोषों पर दबाव डाले बिना ही उन देशो की मुद्रा यूरो मुद्रा बाजार से उधार ली जा सकती है , जिनसे भुगतान संतुलन विपक्ष मे है |

      Answered on December 6, 2017.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.