हिंदी-ब्लॉगिंग में कब क्या समस्याएं हैं और उनका समाधान क्या है? Hindi Blogging issues and solutions

    यह एक काफी कड़वी सच्चाई है कि ‘ब्लॉगिंग’ में रुचि उत्पन्न होने के कारण भी हम इंडियन ब्लॉगर्स (खासकर हिंदी और क्षेत्रीय भाषी ब्लॉगर्स) कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं. यह कंटेंट से लेकर, सर्वर और टेक्नोलॉजी से लेकर कमाई के ऑप्शंस तक है. इस विषय पर मैंने यह डिटेल में लेख (Professional blogging tips ) लिखने का प्रयत्न किया है. थोड़ा समय हो तो इसे जरूर पढ़ें और अपना अनुभव भी शेयर करें ताकि आने वाले समय में हम इन समस्याओं को सुलझा सकें. जाहिर है, इससे न केवल हिंदी को फायदा होगा, बल्कि उससे भी ज्यादा फायदा हम इंडियन ब्लॉगर्स  को ही होगा!

    Add Comment
  • 3 Answer(s)

      हिंदी ब्लॉग्गिंग की सबसे बड़ी समस्या एड नेटवर्क्स का आभाव और कम cpc होना है| वैसे तो भारत में गूगल adsense से cpc कम है लेकिन फिर भी अगर ब्लॉग अंग्रेजी में होता है तो cpc थोड़ी अच्छी रहती है लेकिन हिंदी ब्लोग्स की तो cpc बहुत ही कम होती है |

      दूसरी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हिंदी ब्लॉग्गिंग में adsense के आलावा पैसा कमाने के कोई साधन नहीं है और एफिलिएटेड मार्केटिंग भी अभी तक हिंदी ब्लॉग्गिंग में सफल नहीं है|

      वैसे इस बात में कोई दोराय नहीं की हिंदी ब्लॉग्गिंग का भविष्य अच्छा है क्योंकिं 

      1. आने वाले वर्षों में इन्टरनेट के नए उपभोक्ताओं में हिंदी भाषी लोगों की संख्या बहुत ज्यादा होगी|
      2. अभी तक हिंदी ब्लॉग्गिंग में इतना कम्पटीशन नहीं है |
      3. गूगल लगातार हिंदी ब्लॉग्गिंग और इन्टरनेट पर हिंदी कंटेंट को बढ़ावा दे रहा है|
      4. सर्च इंजन को निरंतर हिंदीभाषा के अनुकूल बनाया जा रहा है|
      Answered on June 24, 2016.
      Add Comment

        हिंदी ब्लॉग्गिंग की कई समस्याएँ है| सबसे पहली समस्या तो हिंदी भाषी लोगों की हिंदी के प्रति गलत आदतें है| आजकल इन्टरनेट पर 70% लोग हिंदी को देवनागरी भाषा का उपयोग करके नहीं लिखते इस कारण अब हिंदी हिंदी न रहकर हिंगलिश हो गई है | इससे सबसे बड़ी समस्या यह उत्पन्न हो गयी है कि हिंदी ब्लोग्गर्स कौनसी भाषा का उपयोग करे|

        कुछ हिंदी ब्लॉगर हिंगलिश भाषा का उपयोग करने लगे है और बाकि bloggers को मजबूरी में अंग्रेजी keywords का उपयोग करना जररी हो गया है| बात अंग्रेजी कीवर्ड तक तो ठीक थी लेकिन अब जो हम रोमन लिपि का उपयोग करके हिंगलिश भाषा में लिखते है उससे एक तरफ तो मूल हिंदी भाषा का भविष्य खतरे में पड़ सकता है और दूसरी तरफ अगर हम हिंगलिश का उपयोग न करें तो इससे सर्च इंजन में हमारे ब्लॉग कहीं पर भी दिखाई नहीं देंगे|

        यह बड़ी ही विकट  स्थिति है |

        Answered on June 23, 2016.
        Add Comment

          हिंदी ब्लॉग्गिंग की सबसे बड़ी समस्या यह है की हिंदी ब्लॉगर को उसकी मेहनत के अनुसार प्रतिफल नहीं मिल पा रहा| आज कल नए नए एड्स नेटवर्क हिंदी को सपोर्ट करने लगे है लेकिन सब की cpc इतनी कम है कि एक नया ब्लॉगर कितनी भी कोशिश कर ले वह कम से कम 1 साल तक तो ब्लॉग्गिंग से कमाई की सोच भी नहीं सकता|

          दूसरी सबसे बड़ी समस्या यह है की हिंदी ब्लॉग्गिंग में एफिलिएटेड मार्केटिंग सफल नहीं हुई है और इसकी सम्भावना भी कम ही है जिससे हिंदी ब्लोग्गर्स  को अच्छे पैसे कमाने के लिए बहुत सारा ट्रैफिक चाहिए होता है और इस ट्रैफिक को लाने के लिए जल्दी से जल्दी पोस्ट पब्लिश करते है जिससे गुणवता की कमी आई है|

          Answered on July 31, 2016.
          Add Comment

          Your Answer

          By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.