Bar Code क्या हैं और यह कैसे काम करता हैं?

Bar Code क्या होता हैं? Bar Code तकनीक किस तरह से काम करती हैं और इसका उपयोग कहाँ पर होता हैं?

Add Comment
  • 1 Answer(s)
    Best answer

    Bar-code Meaning in Hindi 

    Bar-code का अविष्कार 1949 में Joseph Woodland द्वारा किया गया| Bar-code एक नंबरों और lines से बना एक Machine Readable code है जिसका उपयोग Product की पहचान और ट्रेकिंग के लिए किया जाता है| Bar-code का फॉर्मेट Number और lines में रहता है, Mostly इसमे Parallel होते है|

    Bar-code hindi

    Bar-code एक बहुत ही अच्छा एक system है, जिसके तहत Business को आगे बढाता जाता है| Bar-code की मदद से कम्पनिया अपने Product को track कर सकती है, उनके Stock level का पत्ता लगा सकती है| जिसके कारण कम्पनिया अपने Product बहुत ही अच्छे तरीके से मैनेज कर पाती है और Bar-code उनके Product System को बेहतर बनता है|

    How to work Bar-code – बारकोड कैसे काम करता है| 

    Bar-code एक system की तरह काम करता है, यह Symbology और Scanner की सहायता से काम करता है| Scanner द्वारा Bar-code को पढ़ा जाता है, फिर उसे समझ कर System उसकी Information को save कर देता है| जिससे कम्पनी के किसी भी Product को Track किया जा सके और इनके इस्तेमाल को मैनेज किया जा सकता है|

    Bar-code में जो image बनी होती है, वह image नहीं होती, बल्कि एक code होता है, जिसे केवल स्कैनर ही पढ़ पाटा है| उस code में प्रोडक्ट की सारी information होती है, जैसे:-Origin, Price, type, Quality, Date और location के बारे में Information होता है| यह सब जानकारी Scanner द्वारा read करके save कर दी जाती है| इससे Product Companies को काफी फायदा हुआ है|

    Use of Bar-code – बारकोड का उपयोग|

    Bar-code का उपयोग कई जगहों पर किया जाता है, जिसके कारण Information को अब कुछ ही सेकेंड्स में save किया जा पाता है| Bar-code ने Business और तकनीकी को बहुत ही आगे बढ़ा दिया है| इसके पहले जिन गलतियों के कारण नुकशान होते थे, अब इसके आने के बाद वो ना मात्र की रह गई है|

    इसका इस्तेमाल भी बहुतो जगह होता है, जैसे:-

    • Inventory, Company की Asset को ट्रैक करने में;
    • Return mail में, invoices में ऐड करके
    • Consumer Retail Goods में;
    • Manufacturing Process Tracking में;
    • Access Control में;
    • Coupons, Gift Cards, Driving Licence, Package Tracking में;
    • ऑफिस में Speed Post को ट्रैक करने में;
    • Medicine Manufacturing में;
    • इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड storage और retrieval में;
    • Life-cycle Identification में आदि|
    Answered on September 9, 2017.
    Add Comment

    Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.