व्यापार शुरू करने से सम्बंधित GST के प्रश्न – Starting a Business

सर नमस्ते ,

मैं नया व्यापार चालू कर रहा हु, लेकिन मुझे व्यापार चालू करने में कुछ परेशानिया सामने आ रही हे खासकर GST. को लेकर|

मैं आप से कुछ बिन्दुओ में कुछ होने वाली परेशानियों के बारे में सवाल पूछना चाहता हु आशा हे आप उसका सटीक बिन्दुओ में जवाब देंगे

1. मेरा स्टेसनरी गुड्स में पैकिंग टेप का बिज़नेस हे इसके लिए आवश्यक रजिस्ट्रेशन या लाइसेंस कौन- कौन से हे.
2. रजिस्ट्रेशन या लाइसेंस में दूकान का ही उल्लेख होना ही जरुरी हे, घर से बिज़नेस नहीं कर सकते.
3. में मध्य प्रदेश राज्य में रहता हु उस के हिसाब से मेरे लिए व्यापार का टर्न ओवर कितना होगा.
4. GST में रजिस्ट्रेशन के लिए टर्न ओवर को भी देखना हे अर्थात कितने टर्न ओवर के बाद GST जरूरी हे
5. में मध्य प्रदेश में रहता हु , और बिज़नेस करने के लिए माल गुजरात से खरीदना चाहता हु तो इस दशा में टर्नओवर का दायरा ख़तम हो जाएगा और फिर इस पर टैक्स का कुछ प्रावधान हे, जैसे – एक राज्य में खरीद बिक्री बीस लाख तक कुछ भी करो टैक्स के दायरे में नहीं आते) वैसे ही दूसरे राज्य से माल लाकर व्यापार करने में भी छूट होगी .
6. पहले की तरह टिन नंबर आज भी जरूरी हे बनवाना या GST नंबर से ही सभी खरीद बिक्री पूरी हो जाएगी जो भी रजिस्ट्रेशन जरुरी हे उसके लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट लगेंगे.
7. यदि मेरा व्यापार बीस लाख तक ही सिमित हे, परन्तु कोई मुझसे पक्का बिल मांगे तो में क्या करू तथा क्या इसमें भी कोई लिमिट तक माल दे सकते हे
8 व्यापार में जो इनकम होगी उस पर भी अलग से टैक्स देय होगा.
9 जितनी भी सेल हो उन सभी को पक्का बिल बनाना पड़ेगा और सभी सेल का रिकॉर्ड रखना जरुरी हे.

         आशा हे आप सभी बिन्दुओ में उपलब्ध मेरी सभी समस्याऔ का समाधान करेंगे

                धन्यवाद…

Add Comment
  • 1 Answer(s)

      Starting a Business – GST Questions-Answers

      मैं यहाँ पर आपके सभी प्रश्नों के उत्तर देने की कोशिश कर रहा हूँ| आपने जिस क्रम में अपने प्रश्न पूछे हैं उसी क्रम में उत्तर दे रहा हूँ :-

      1. GST लागू होने के बाद मुख्य रूप से शुरूआती और छोटे व्यवसाय के लिए GST रजिस्ट्रेशन लेना होता हैं (अगर आपके लिए Registration लेना अनिवार्य हैं या फिर आप अपनी इच्छानुसार रजिस्ट्रेशन लेना चाहते हैं| इसके आलावा आपको मुख्य रूप से Shop and Establishment Act के तहत अपने व्यावसायिक स्थल का license लेना होता हैं| इस लिंक को देखिये :a) Shop and Establishment Registration    b) GST Registration

      2. हाँ आप घर से भी Business कर सकते हैं| इसके लिए Registration में आपको Business Place में घर का Address देना होगा|

      3. मध्यप्रदेश राज्य में GST की छूट सीमा 20 लाख तक है| अगर आपका Turnover 20 लाख से कम हैं और आप किसी अन्य कारण जैसे Inter-State Supply या Reverse की वजह से Registration लेने के लिए उत्तरदायी नहीं हैं तो आपको रजिस्ट्रेशन लेने की आवश्यकता नहीं हैं| फिर अगर आप चाहतें तो एच्छिक रूप से रजिस्ट्रेशन ले सकते हैं|

      4. GST Registration लेने की अनिवार्यता Turnover के आलावा अन्य बातों पर भी निर्भर करती हैं| रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता की जानकारी के लिए इस लिंक को देखिये – Mandatory GST Registration

      5. GST में अगर आपने रजिस्ट्रेशन नहीं लिया है तो आप Inter-State Supply यानि की दूसरे राज्य में माल बेच नहीं सकते और दूसरे राज्य में माल बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन लेना जरूरी हैं| लेकिन दूसरे राज्य से माल खरीदने में कोई दिक्कत नहीं हैं| आप बिना GST Registration के भी दूसरे राज्य से माल खरीद सकते हैं| इसे देखें – Inter-State Purchase Without GST Registration

      6. GST के बाद सारे Indirect Taxes जीएसटी में समाहित हो गए हैं और उसमें VAT भी शामिल हैं जिसके लिए पहले TIN Number लेने पड़ते थे| GST के बाद आपको TIN Number लेने की जरूरत नहीं हैं| GST Registration के डाक्यूमेंट्स की जानकारी के लिए इस लिंक को देखिये – GST Registration Documents

      7. अगर आप GST में Registered नहीं हैं तो आप बिना GST लगाये सामान्य Bill  जारी कर सकते हैं|

      8. GST किसी भी वस्तु या सेवा की Supply यानि की Sale पर लगता हैं और सभी GST रजिस्टर्ड व्यवसाय अपने बिल में GST जोड़कर Customer से भुगतान लेंगे और उसी GST को सरकार को जमा करवाते हैं| इसके अलावा आपको वर्ष भर में जो भी Income होती हैं उस पर Income Tax लगता हैं जिसकी वर्तमान छूट सीमा 250,000 हैं इसके बाद की Income पर आपको income Tax देना होगा|

      9. अगर आप GST में Registered होते हैं तो आपको सभी Sales पर (Rs. 200 से कम की Sale को छोड़कर) पर Tax Invoice Issue करना पड़ेगा| अगर आप कम्पोजीशन स्कीम में जाते हैं तो आपको Tax Invoice की जगह Bill of Supply (बिना GST लगाया हुआ बिल) जारी करना पड़ेगा|

       

      मुझे उम्मीद हैं की आपकी सभी समस्याएँ हल हो गयी होंगी| इसके आलावा भी आपको कोई doubt हो तो Askhindi पर मैंने कई प्रश्नों के उत्तर दिए हैं, आप इस लिंक पर जाकर सभी प्रश्नों को देख सकते हैं – GST Hindi FAQ

      Answered on July 21, 2017.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.