CGST, SGST और IGST क्या हैं – Meaning of Different GST Tax

CGST, SGST और IGST की Full Form क्या होती है? साथ ही यह भी बताए की इन तीनो में क्या Difference होता है?

Add Comment
  • 3 Answer(s)

    CGST, SGST और ISGT की जानकारी –

    • (CGST) – Central Goods And Service Tax – (केन्द्रीय माल व सेवा कर)
    • (SGST) – State Goods And Service Tax – (राज्य माल व सेवा कर)
    • (IGST) – Integrated Goods and Service Tax – (एकीकृत माल व सेवा कर)

    CGST, SGST, IGST Full Form

    1 जुलाई 2017 को GST लागू हुई और यह तीनो GST के ही भाग है| जब किसी भी माल और सेवा पर टैक्स लगता है तो वह दो तरह से लगता हैं – राज्य सरकार कर और केन्द्रीय सरकार कर| Example – जब व्यापारी द्वारा सामान्य वस्तु पर 18% की दर से ग्राहक से GST वसूला जाता है, तो उसमे सामान भाग में केन्द्रीय सरकार का 9% और राज्य सरकार का 9% कर शामिल होता है|

    तो इस कर को दोनों सरकारों के पास नियमित रूप से पहुँचाने के लिए IGST लाया गया, जिसका मतलब है –  Integrated Goods And Service Tax. जो केन्द्रीय सरकार द्वारा वसूल किया जाता है और जो किसी भी माल या सेवा पर लगने वाला कुल कर होता है| इसे वसूल करने के बाद समान रूप से राज्य और केन्द्रीय सरकार में बाट दिया जाता है| जैसे- किसी वस्तु पर 18% GST लगता है, तो उसे IGST में वसूल कर फिर राज्य सरकार को 9% और केन्द्रीय सरकार को 9% बात दिया जाता है|

    Related –

    Answered on August 25, 2019.
    Add Comment

    CGST, SGST और IGST क्या होते है – 

    1 जुलाई 2017 को GST लागू हुआ, जिसमे यह तीन टैक्स नए तौर पर शामिल किये गए – CGST, SGST और IGST जिनका पूरा नाम कुछ इस प्रकार है –

    • Central Goods And Service Tax (CGST)
    • State Goods And Service Tax (SGST)
    • Integrated Goods and Service Tax (IGST)

    अगर कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति को एक ही राज्य के अन्दर माल बेचता है, तो दो प्रकार के टैक्स लगेंगे| पहला CGST और दूसरा SGST. जैसे मान ले की किसी राज्य में बेचीं गई वस्तु पर लगने वाली टैक्स रेट 9% है तो वह दो भागो में बटेगी – CGST 4.5% और SGST 4.5%.

    और दूसरी तरफ अगर वही वस्तु दुसरे राज्य में बेचा जाता है, तो उस पर 9% की रेट से IGST लगेगा, जिसका सामान भाग राज्य और केन्द्रीय सरकार को भेज दिया जाएगा|

    Check Also –

    Answered on August 25, 2018.
    Add Comment

    CGST,IGST और SCGT की फुल फॉर्म –

    CGST,IGST और SCGT  गुड्स और सर्विस टेक्स (GST) के ही पार्ट है, जो भारत मे 1 जुलाई 2017 से लागु हों गया है| राज्य के भीतर माल बेचने पर CGST (Central goods and service tax) तथा SGST (State goods and service tax) लगेगा|

    उदाहरण – यदि कोई राजस्थान का व्यक्ति राजस्थन के भीतर किसी व्यक्ति को माल बेचता है और उस वस्तु पर GST की Rate 18% है तो 9% CGST तथा 9% SGST लगेगा, जो राज्य सरकार और केन्द्रीय सरकार को बाट दिया जाएगा| और

    यदि माल राज्य के बाहर के व्यक्ति को बेचा जाता है तो 18 % की दर से IGST लगेगा, जो IGST के अंतर्गत राज्य सरकार और केन्द्रीय सरकार को समानरूप से बाट दिया जाएगा| Excise Duty, Service Tax,custom duty और अन्य केन्द्रिय अप्रत्यक्ष कर कि जगह CGST ने ले ली है| Value Added Tax, Entertainment Tax, Entry Tax की जगह SGST ने ले ली है और Central Sales Tax की जगह IGST ने ले ली है|

     

    Add Comment

    Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.