ITR फाइल करने के बाद गलती को कैसे सुधारें – How to Correct Mistakes in Income Tax Return?

इनकम टैक्स Return में कोई गलती हो गई हो तो उसे कैसे सुधारा जा सकता हैं? क्या ITR फाइल कर देने के बाद Revised Return फाइल किया जा सकता हैं? रिवाइज्ड रिटर्न कब तक और कैसे फाइल किया जा सकता हैं?

Add Comment
  • 1 Answer(s)

      अगर आपने आयकर रिटर्न भरते समय कोई गलती कर दी है तो आप उस गलती को वापस सुधार सकते है इसके लिए आपको Revised return भरना पड़ेगा जिससे आपके रिटर्न में हुई गलती में सुधार हो सकता है|

      Revised Return क्या है

      Revised return एक प्रकार का रिटर्न है जो मूल रिटर्न  में संशोधन के लिए 139(5) के अंतर्गत भरा जाता है, आपके द्वारा दाखिल किये गए original return में गलती या चूक होने पर उसमे संशोधन का काम करता है| ज्यादातर व्यक्ति जल्दी रिटर्न भरने के चक्कर में कोई न कोई गलती कर देते है और बाद में उन गलतियों पर ध्यान देते है, ऐसा होने पर आप संशोधन के लिए Revised return भर सकते है|

      अगर आपने 139(1) के अंतर्गत अपना original return फाइल किया है या फिर 139(4) के अंतर्गत दाखिल किये गया रिटर्न पर Revised return का फॉर्म भर सकते है|

      रिवाइज्ड रिटर्न कब तक भर सकते हैं –  Time Limit To File Revised Return

      Assessment year खत्म होने से पहले या फिर रिटर्न का मूल्यांकन पूरा होने से पहले आप संशोधन का फॉर्म भर सकते है|

      उदाहरण के लिए अगर आप FY 2017-18 के लिए रिटर्न भर रहे है तो आप 31 जुलाई तक अपना नियत रिटर्न भर सकते है लेकिन इसमें आपको कोई गलती नजर आती है  31 मार्च 2019 तक संशोधन का फॉर्म भर सकते है|

      Revised return भरने से पहले मुख्य बाते-

      • Revised return केवल original return भरने और वेरिफिकेशन करने के बाद ही भरा जा सकता है|
      • यदि आपने original return देय तिथि तक नहीं भरा है तो आप Revised return नहीं भर सकते है |
      • Revised return को उसी तरह दाखिल करना चाहिए जिस तरह से original return भरा है अगर मूल रिटर्न इलेक्ट्रॉनिक रूप में भरा गया है तो संशोधन का रिटर्न भी इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भरा जाएगा|
      • Revised return या तो उसी ITR फॉर्म में भर सकते है जिसमे मूल रिटर्न भरा था या फिर एक अलग ITR फॉर्म में दाखिल कर सकते है|
      • यदि आयकर विभाग ने पहले ही आपका रिटर्न संशोधित कर दिया है तो आपको Revised return भरने की जरुरत नहीं है|
      • यदि मूल रिटर्न और Revised return की आय में कोई अंतर होता है तो आयकर विभाग आप पर जुर्माना लगा सकता है|
      • यदि मूल रिटर्न में कर से बचने के लिए आप अपनी आय छुपाते है या  झूठ बोते है या फिर निवेश पर झूठ बोलते है तो आप पर जुर्माना लग सकता है|
      • आप अपना Revised return कितनी भी बार भर सकते है इसमें कोई रोक नही है, लेकिन अगर आयकर विभाग को पता चल जाता ही की आप जानपुछ कर यह कर रहे है तो आपको जुर्माने के साथ साथ जेल की सजा भी हो सकती है|

      रिवाइज्ड रिटर्न फाइल कैसे करे- How to File Revised Return

      • सबसे पहले आपको income tax e-filing portal पर जाकर लॉग इन करना होगा|
      • उसके बाद ऊपर बाए तरफ menu पर Quick e-file के ऑप्शन पर क्लिक करे|
      • इसके बाद  assessment year और पता चुन कर सबमिट कर दे|
      • अब इसमें आपसे मांगी गई जानकारियों को भर दे|
      • दूसरे भाग में filing status में आपको  employment category and about the return को चुनना है|
      • यह खंड महत्वपूर्ण है इसमें आपको कॉलम A21 में drop down पर क्लिक करना है और  17-revised return- 139(5) के विकल्प को चुनना है|
      • अब कॉलम A24  में आपको मूल रिटर्न की  acknowledgement number और फाइल करने की तारीख भरनी है|
      • अब आप अन्य पेजो पर जाए और मांगी गई जानकारी को भर दे|
      • अब इस फॉर्म को सबमिट कर दे और ई-वेरिफिकेशन कर दे|
      • अब संशोधित रिटर्न का ITR -V का प्रिंट निकाल कर उस पर हस्ताक्षर कर दे और बेंगलुरु में स्थित केंद्रीय प्रस्करण केंद्र(CPC) को भेज दे,CPC को ITR दाखिल करने के 120 दिनों में ITR -V प्राप्त होना चाहिए|

      ITR Filing Help Questions

      Answered on July 16, 2018.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.