Demat Account और Trading Account में क्या Difference होता है?

डीमेट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट में क्या अंतर होता है| यह दोनों Account किसलिए खोले जाते है और Demat & Trading Account open करने के लिए किन-किन Documents की जरुरत होती है|

Asked on September 18, 2017 in Finance.
Add Comment
  • 1 Answer(s)

      Trading Account – क्या है|

      Share Market में जब शेयर Stock Exchange पर Trading यानी व्यापार के लिए उपलब्ध होते जाते है, तो उनका लेनदेन एक एलेट्रॉनिक सिस्टम पर होता है| जिसमे आपको शेयर खरीदने और बेचने के लिए शारीरिक रुप से उपस्थित होने की जरुरत नहीं है, बस आप उसे एक कंप्यूटर के माध्यम आसानी से Trading कर सकते है|

      इस Trading के लिए आपको विशेष खाते की जरूरत है, जिसके माध्यम से आप लेनदेन कर सकते हैं उसी खाते को Trading Account कहते है| इस ट्रेडिंग अकाउंट के बिना आप Share Market में व्यापार नहीं कर सकते, प्रत्येक Account के लिए एक अलग अद्वितीय Trading Id होती है, जिसके इस्तेमाल से लेनदेन किया जाता है| एक लाइन में कहाँ जाए तो Trading account शेयर मार्केट में शेयरों के लेनदेन करने का एक साधन, माध्यम और जरिया है|

      Deman & Trading Account

      Demad Account – क्या है|

      Demat Account भी Shares market का एक हिस्सा ही है| जब आप Share Market में Shares खरीदते या बेचते है, तो Demat Account एक Bank के रुप में काम करता है, जहाँ Shares खरीदेने पर उसे Demat Account में जमा किया जाता है और बेचने पर Shares को निकाला जाता है|

      सरल शब्दों में कहें तो Demat Account एक प्रकार की भंडारण सुविधा है, जो शेयर और सिक्योरिटीज जैसे वित्तीय साधनों को शुरक्षित रखता है| इसका उपयोग पुनः भौतिकरण के लिए भी किया जा सकता है, अर्थात् इसके माध्यम से शेयर्स को इलेक्ट्रॉनिक से भौतिक रूप में बदला जा सकता है| इसमे शेयर खरीदे पर उन्हें इस Account में जमा किया जाता है और उसी प्रकार जब शेयर्स बेचे जाते है तो उन्हें खाते में से निकाल लिया जाता है|

      Difference Between Demat & Trading Account

      ट्रेडिंग अकाउंट का उपयोग Stock market में ऑर्डर खरीदने या बेचने के लिए किया जाता है, जबकि डिमैट अकाउंट का उपयोग एक Store के रुप में Shares को जमा करने के लिए किया जाता है, Trading account लेनदेन का जरिया है ,जबकि Demat account शेयर्स को इखटा करने का जरिया है|

      उदहारण के तौर पर जब आप अपने ट्रेडिंग अकाउंट का उपयोग कर शेयर खरीदते हैं, तो पैसा आपके बैंक खाते से निकाल लिए जाते है और शेयर को आपके डीमैट खाते में जमा कर दिया जाता है| उसी प्रकार जब आप एक शेयर बेचते हैं, तो शेयर आपके डिमेट खाते से निकाला जाता है और स्टॉक मार्केट में बेच दिया जाता है, जिससे बिक्री से प्राप्त धन आपके बैंक खाते में जमा कर दिया जाता है, इस प्रकार व्यापार के सफल निष्पादन के लिए डीमैट और ट्रेडिंग दोनों खाते आवश्यक हैं|

      Document Requirement – जरुरी दस्तावेज|

      भारत में Stock Market में व्यापार करने के लिए एक डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता होना अनिवार्य है, कोई व्यक्ति ट्रेडिंग और डीमैट खाते के बिना व्यापार नहीं कर सकता है| एक डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता खोलने के लिए आवेदन फार्म के साथ जरुरी दस्तावेज़ों जमा करवाने होंगे|

      खाता खोलने के लिए आपको 4 प्रकार के दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:-

      1. पहचान का सबूत (Proof of Identity)

      2. पते का प्रमाण (Proof of Address)

      3. आय का प्रमाण (Proof of Income) केवल डेरिवेटिव सेगमेंट में ट्रेडिंग के मामले में (In case of trading in derivatives segment only is necessary)

      4. संबंधित बैंक खाते के लिए वैध प्रमाण, अर्थात बैंक खाता का सबूत (Proof of legal proof for Bank account, i.e. Proof of Bank account)

      Answered on September 18, 2017.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.