नौकरी कैसे पायें? अच्छी नौकरी पाने के उपाय बताइए – How to Get a Good Job

Naukari Kaise Milegi? Study Puri Hone Ke Baad Naukari Hasil Karne Ke Tips Dijiye? Freshers Ko Naukari Kaise Milti hai? Naukari Pane Ke Liye Kya Karna Chahiye

Add Comment
  • 2 Answer(s)

    नौकरी कैसे पाएँ – How To Get A job

    सब से पहले यह बात ध्यान रखनी ज़रूरी है की नौकरी पा लेने के बाद उसे कायम रखने के लिए दुगनी महेनत करनी होगी। अब रही बात job ढूँढने और उस के लिए select होने की तो, इस के लिए सही तैयारी (preparation) काफी ज़रूरी है। आज के समय में किसी भी क्षेत्र में काम हासिल करना है तो आप के पास सही टेलेंट (talent) और अच्छी personality होनी चाहिये। Job उसी field में ढूँढे जिसमें आप अपना भविष्य देख रहे हैं। सिर्फ पैसों और “कम काम” को देख कर या आसान काम देख कर नौकरी करने पर long term में निराशा ही हाथ लगती है।

     

    नौकरी कहाँ ढूंढें – How and where to get a good job?

    जॉब हासिल करने के लिये fresher को काफी दिक्कत होती है, अच्छी company या farm में experience या फिर link से ही जॉब मिलती है। बिना शिफारिश और बिना अनुभव काम पाने के लिये काफी महेनत करनी पड़ती है। अब ऐसी situation में क्या करें…?

    1. न्यूज़ पेपर में job advertise पर ध्यान दें।
    2. Already job कर रहे बंदों से मेलजोल बढ़ाएँ ताकि vacancy निकलने पर तुरंत interview दे सकें।
    3. Internet पर job sites पर register करें, olx ओर quicker जैसी साइट पर खुद का ad पोस्ट कर के resume upload करें। या फिर वहाँ पर मौजूद advertise में से जॉब ढूंढें।
    4. Experience हासिल करने के लिये किसी नामी firm में फ्री में कुछ समय काम करें।
    5. अन्य fresher candidates के संपर्क में रहें information का आदानप्रदान करें।
    6. रोज़गार समाचार टीवी पर देखें।

     

    नौकरी पाने के लिए क्या क्या बातें ध्यान में रखे – what are the most important points to get a job

     

    • Job interview पर जाते समय अपने सारे certificates और अन्य ज़रूरी documents साथ ले कर जाएँ। original documents के साथ एक कॉपी जेरोक्ष भी साथ रखें।
    • दिखावे का ज़माना है, तो interview पर जाते समय भले ही आप के पास महेंगे कपड़े, घड़ी ना हो पर साफ सुतरे कपड़े और चमक दार clean जूते होना काफी ज़रूरी है।
    • खुद पर जो व्यक्ति भरोसा नहीं कर पाएगा उसकी बात पर और कौन भरोसा करेगा। interview में हर सवाल का जवाब confidence से देना चाहिये। और याद रखना चाहिये की अहम (IGO) और विश्वास (Confidence) में फर्क रहना चाहिये।
    • Job हासिल करने के लिये interviewer से जूठ ना बोलें। उनही बातों की हामी भरें जो qualification आप में हैं। resume में भी वही details लिखें जिन के बारे में आप की कुछ knowledge हों और आप दो शब्द उस विषय पर बोल सकें।
    • Interview hall में अंदर आने से पहले और कुर्सी पर बैठ नें से पहले उनकी पर्मिशन लेना ना भूलें। या फिर कहा जाए तब ही बैठें। Resume या अन्य documents जब आप से मांगे जायें तभी आगे करें।
    • कोई भी बात समझ ना आने पर बिना जिझक नम्रता से सवाल करें। ज़्यादा मक्खन लगा कर या मुस्कुरा कर बोलने से भी impression खराब होगा इस लिये normal behave करें।
    • एक बार selection हो जाने पर काम काज का समय अन्य terms & conditions और salary से जुड़ी बातें साफ साफ समझ लें ताकि बाद में पश्तना (rerate) ना हों।
    • Interviewer के सवाल का जवाब देते समय अपने हाथ ज़्यादा ना हिलाएँ, और सिर भी स्थिर रख कर जवाब दें। किसी भी सवाल का उत्तर देते वक्त आप की आंखे interviewer की आँखों की और ही होनी चाहिये।
    • Interview पर जाते समय या interview देते समय धड़कने बढ़ जाना, fumble हो जाना, यह सब नॉर्मल है। इस प्रकार की परिस्थिति से गभराना नहीं है sorry बोल कर अगले question का जवाब देना है। (Note – याद रहे की ना तो वह जॉब लाइफ की लास्ट जॉब है ना ही लाइफ की सब से बेस्ट)।
    • Mistake से सीखना ज़रूरी है। पिछले interview में जो गलती की थीं उन्हे दोहराना नहीं है।
    • किसी अच्छी नौकरी पा लेने के बाद जो काम करना है उसके लिये training होती है, मेडिकल, पुलिस verification, सैलरी अकाउंट खुलवाना, अन्य गारंटी, डॉक्युमेंटेशन वेगेरा…इन सब चीज़ों के बारे में जानकारी हासिल कर के पहले से ही तैयार रहेना चाहिये।

    Best Luck

     

     

     

    Answered on March 2, 2017.
    Add Comment

    इस तरीके से मिलेगी अच्छी नौकरी

    आज देश में जिस तरह से Unemployment बढ़ गया है, उसको देखते हुए लगता है कि Jobs का अकाल पड़ गया है. बेरोजगारों की संख्या Year – by- year वर्ष बढती ही जा रही है.

    दूसरी ओर newspapers और job portals पर नौकरियों के विज्ञापन देखते हुए लगता है, जैसे नौकरियों की कोई कमी नहीं है, कमी है तो उसके योग्य बनने की. प्रायः प्रतिदिन पत्र – पत्रिकाओं में ‘आवश्यकता है’ शीर्षक के अंतर्गत अनेक advertisements दिखाई पड़ते हैं. कई बार तो एक ही कंपनी के विज्ञापनों की पुनरावृत्ति कई – कई दिन तक होती रहती है. कभी-कभी यह पुनरावृत्ति कुछ अंतराल से भी होती है, जिसका सीधा-सा मतलब है योग्य व्यक्तियों का अभाव.

    यह बात भी ध्यान देने योग्य है – चाहे संस्थान सरकारी हो या निजी सभी को अपने कर्मचारियों से उचित एवं व्यवस्थित कार्य और उसके उचित परिणाम की अपेक्षा रहती है, तो तभी संभव है, जब कर्मचारी विशेष योग्यताधारी और कुशल हों.

    इसका मतलब यह हुआ कि पद के योग्य बनना नौकरी की पहली शर्त है. अधिकांश युवा प्रत्याशियों को यह जानकारी ही नहीं होती कि पद के अनुकूल योग्यताएँ कहाँ से और कैसे अर्जित की जाएँ. वे बस Academically अपने academic qualifications बढ़ाते रहते हैं और समझते हैं कि हमने इतना पढ़ –लिख लिया, फिर भी मुझे नौकरी क्यों नहीं मिलती|जबकि आज बढ़ते हुए रोजगार के अवसरों के मद्देनजर अकादमिक उच्चतर शिक्षा से अधिक महत्वपूर्ण यह है कि रोजगार के इन बढ़ते अवसरों को पहचाना जाए और फिर उनके अनुकूल Technical /तकनीकी या vocational/व्यावसायिक योग्यताएँ अर्जित की जाएँ.

    Answered on March 2, 2017.
    Add Comment

    Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.