Gratuity क्या होती है और इसकी गणना (Calculation) कैसे की जाती है?

Gratuity को समझाते हुए, साथ में यह भी बताए की इसके नियम क्या है और ग्रेच्युटी की गणना कैसे की जाती है|

 

Add Comment
  • 1 Answer(s)

    ग्रेच्युइटी (Gratuity)

    कर्मचारी द्वारा नियोक्ता को अपने सेवाकाल में दी गयी सेवा के पारितोषिक रूप में सेवानिवत्ति पर यह राशि नियोक्ता से प्राप्त होती है, अर्थात जब आपके एक निश्चित समय तक काम करने के बाद आपके रिटायर्ड होने के बाद भी आपको जो एकमुश्त राशी मिलती है, उसे ही ही ग्रेच्युइटी कहते हैं।

    RE: Gratuity क्या होती है और इसकी गणना (Calculation) कैसे की जाती है?

     

    ग्रेच्युइटी राशि पर कर लगाने सम्बन्धी प्रावधान निम्न प्रकार हैं:-

    1. केन्द्रीय सरकार, राज्य सरकार व स्थानीय सत्ता तथा सुरक्षा सेवा में लगे कर्मचारियों को सेवानिवृत या मृत्यु पर प्राप्त ग्रेच्युइटी की राशि पूर्णत: कर-मुक्त होती है।
    2. अन्य समस्त कर्मचारियों के लिए ग्रेच्यइटी की राशि एक सीमा तक कर-मक्त होती है। कर मुक्त की राशि की गणना करने के उद्देश्य से कर्मचारियों को दो भागों में विभक्त किया गया है। एक ऐसे कर्मचारी जिन पर ग्रेच्युइटी भुगतान अधिनियम, 1972 (Payment of Gratuity Act, 1072) लागू होता है तथा दूसरे ऐसे कर्मचारी जिन पर ग्रेच्युइटी भुगतान अधिनियम लागू नहीं होता है|

    ग्रेच्युइटी भुगतान अधिनियम, 1972 वैधानिक निगमों, कारखानों, खानों, बागानों, तेल क्षेत्रों, बन्दरगाहों तथा रेल कम्पनियों पर लागू होता है। यह अधिनियम ऐसे व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर भी लागू होता है जहाँ 10 या अधिक कर्मचारी कार्यरत हों।

    यह अधिनियम तभी लागू होगा जबकि कर्मचारी ने सेवानिवृत्ति तक या सेवा त्यागने तक लगातार 5 वर्ष तक कार्य किया हो।

    ग्रेच्युइटी भुगतान अधिनियम, 1972 के अन्तर्गत कर-मुक्त राशि-जिन कर्मचारियों की ग्रेच्युइटी पर ग्रेच्युइटी भुगतान अधिनियम लागू होता है, उन्हें प्राप्त ग्रेच्युइटी की राशि निम्न में जो राशि सबसे कम हो, तक कर-मुक्त होती है

    (i) सेवा के प्रत्येक एक वर्ष के लिए 15 दिन का वेतन (मौसमी कारखानों की दशा में 7 दिन);

    (ii) अधिकतम कर-मुक्त राशि 10,00,000 ₹;

    (iii) वास्तविक प्राप्त राशि।

    RELATED>>>
    Answered on August 29, 2019.
    Add Comment

    Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.