No Cost EMI का क्या मतलब हैं? क्या इसमें किसी तरह का Charge या Interest देना पड़ता हैं?

Amazon ya Flipkart Jaisi online Shopping Sites par jo No Cost EMI Ka Option Hota hai uska kya matlab hota hai? Kya No Cost EMI Me Kisi Tarah Ka Byaj Lagta Hai? Kya Late payment karne Par Kisi tarah ki penalty ya charges dene padte hai?

Add Comment
  • 1 Answer(s)

      No Cost Equated monthly Installments –

      No Cost EMI को जीरो पर्सेंट स्कीम भी कहा जाता है| यह एक तरह का छलावा है| इस योजना के माध्यम से ग्राहक को वस्तु खरीदने के लिए आकर्षित किया जाता है| इस प्रकार की स्कीम अधिकतर त्यौहार के मौसम में ज़्यादा लायी जाती हैं|

      No Cost EMI

      No Cost EMI योजना का मुख्य आक्रषण यह होता है की इसमें उपभोगता को प्रोडक्ट की पूरी कीमत एक साथ नहीं देनी होती है| ज़ीरो पर्सेंट स्कीम, विक्रेताओ का पसंदीदा टूल है क्यों की इस से आकर्षण उत्पन्न होता है और बिक्री बढ़ती है| लेकिन इसका मतलब यह तो कतय नहीं होता है की ग्राहक को ब्याज नहीं चुकाना पड़ेगा| इस बात को एक उदहारण द्वारा समझते हैं|

       

      No Cost EMI illusion – जीरो पर्सेंट स्कीम का छलावा

      एक फ्रिज की कीमत 20 हजार है, जिसे विक्रेता No Cost EMI पर बेच रहा है| अब आप इस प्रोडक्ट को किश्तों पर खरीद लेते हैं और 10 किश्ते 2000 की भर देते हैं| अब आप यह सोचते हैं की मैंने बिना Interest दिए बढ़िया सौदा कर लिया है| लेकिन यहाँ एक पॉइंट आप से छूट जाता है की क्या हकीकत में उस फ्रिज की असल कीमत 20 हज़ार थी?

      क्या पता उस फ्रिज की वैल्यू 15 से 18 हज़ार हों और बाकि की रकम ऋण देने वाली बैंक और विक्रेता ने क़र्ज़ के ब्याज के स्वरूप में वसूली हों| (जब कोई संस्था ऋण देती है तो उसका ब्याज तो होता ही है, फर्क सिर्फ इतना है की No Cost EMI में वह गुप्त तौर पर वसूला जाता है और कुछ नार्मल स्कीम में बताकर लिया जाता है|)

       

      Discount Offer with interest – प्रोडक्ट पर छूट ब्याज के साथ

      • फ्रिज की कीमत  20000, छूट 3000 = 17000
      • फ्रिज की डिस्काउंट कीमत 17000 + किश्तों पर ब्याज 3000 =
      • आप की अंतिम परचेस कीमत 20000

      No Cost EMI No Discount – ज़ीरो इंट्रेस्ट स्किम बिना किसी छूट

      • फ्रिज की बताई हुई कीमत  20000,
      • संभवतः असल वेल्यू  17000 + ऋण पर ब्याज जो बताया नहीं गया है 3000
      • आप की अंतिम परचेस कीमत = 20000

      No Cost EMI missed – किश्त चूक जाने पर

      ऋण चुकाने की प्रक्रिया के दौरान अगर आप के बैंक अकाउंट में पैसे जमा नहीं हैं और आप किश्त चूक जाते हैं तो आप को दो से तीन दिन की मोहलत दी जाती है| उसके बाद भी अगर आप भुगतान नहीं करते हैं तो आप के डिफ़ॉल्ट की सुचना CIBIL संस्था (Credit Information Bureau of India Limited) को जाती है और आप को आर्थिक जुर्माना लगाया जाता है| साथ ही साथ आप की क्रेडिट लिमिट भी ब्लॉक हो सकती है| CIBIL स्कोर निचे जाने पर बैंक से दूसरे लोन लेने में भी समस्या हो सकती है|

      सारांश – RBI गाइडलाइन सर्कुलर 17 सितंबर, 2013 अनुसार कोई भी ऋण ब्याज-मुक्त नहीं है| जिन वस्तुओं पर बिना Interest के लोन दिया जाता है उसमें प्रोसेसिंग फिज़ जोड़ कर Interest वसूल लिया जाता है| और जब प्रोसेस चार्ज भी ज़ीरो होता है तब उस प्रोडक्ट को अधिक दाम पर बेचा जाता है| No Cost EMI जैसी स्कीम केवल ग्राहकों को आकर्षित करने और शोषण करने का मार्केटिंग टूल है|

       

      Related QNA –

      Answered on January 3, 2019.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.