मोबाइल नंबर बदले बिना किसी भी सिम को Online Port कैसे करवाएं

Aajkal IDEA, Vodafone or Airtel Jaisi Companies Minimum Recharge Ke Liye Force Karti hai. In Companies Ke Sim Ko Reliance JIO 4G Me Kaise Port karvaye? Kisi Bhi Sim Ko Online Port Karvane Ke Liye Kya Karna Padeta

Add Comment
  • 1 Answer(s)

      मोबाइल नंबर जब सभी सगे-संबंधी, परीवार,और मित्रों को दिया होता है, और लंबे समय से बात-चित करने का माध्यम बना होता है तब एक वैलुएबले एसेट बन जाता है| और जब ऐसा नंबर आप ने आधार कार्ड, पैन कार्ड, गैस की सब्सिडी, ऑनलाइन नेट बैंकिंग और दूसरी अन्य सेवाओं के साथ लिंक किया होता है तब उस नंबर की वैलुए और भी बढ़ जाती है| ऐसे उपयोगी नंबर को उपभोगता बदलना नहीं चाहते हैं| same नंबर के साथ जब नेटवर्क ऑपरेटर बदलना होता है तब मोबाइल पोर्टे सेवा पिक्चर में आती है|

      मोबाइल पोर्ट करने के कारण – Mobile Portability Possible Reasons

      • कंपनी जब रिचार्ज के प्लान मेहेंगे बना देती है|
      • आप के क्षेत्र में उस सिम कंपनी का नेटवर्क ख़राब हो जाता है|
      • बार बार बिना बताये बकवास स्कीम्स एक्टिव कर दी जाती है|
      • दूसरी कंपनी जब सस्ता और अच्छा प्लान ऑफर करती है|
      • सिम कंपनी प्रोडक्ट पर अच्छी सर्विस नहीं देती है|

      मोबाइल पोर्ट करने के नियम – Mobile Portability Rules

      1. सिमकार्ड जब ख़रीदा है उसे 90 दिन इस्तमाल करने के बाद ही मोबाइल पोर्टेब्लिटी संभव है|
      2. अगर सिम कार्ड पर एक बार मोबाइल पोर्टेब्लिटी करा चुके हैं तो अगले 90 के बाद ही दूसरी बार मोबाइल पोर्टेब्लिटी करा सकते हैं|
      3. मोबाइल पोर्टेबिलिटी सेवा तभी प्राप्त की जा सकती है जब आप अपने एरिया में रहते हुए इसे करवाते हैं| अगर आप किसी अन्य शहर या राज्य में जा कर उस मोबाइल नंबर को पोर्ट वहां करना चाहते हैं तो ऐसा संभव नहीं होगा|
      4. पुराना नंबर बंद होने के 1 से 2 घंटे के अंदर नया पोर्ट किया हुआ सिम एक्टिव हो जाता है|
      5. डॉक्यूमेंट जमा करने के बाद पूरा प्रोसेस 3 से 4 दिन में हो जाता है|
      6. मोबाइल नंबर की ओनरशिप बदलने की अर्ज़ी लगी है तो ऐसा नंबर पोर्ट नहीं हो पायेगा|
      7. जिस नंबर को पोर्ट कराना है उस नंबर सारे बिल्स क्लियर हुए तभी MNP होगा|
      8. Mobile portability करना है तो जिस ऑपरेटर को आप छोड़ रहे हैं उसे कोई चार्ज नहीं देना है|
      9. जिस नेटवर्क पर जाना है उस SIM ऑपरेटर कंपनी को 20 से ले कर 200 रुपियों के बीच भुगतान करना पड़ता है| (नियम और नयी स्कीम अनुसार)|

      मोबाइल पोर्ट करने का प्रोसेस – Mobile Portability Process

      1# मोबाइल पोर्ट करना है तो अपने फ़ोन के मेसेज बॉक्स में जा कर कैपिटल में PORT टाइप कीजिये| उसके बाद एक खली जगा यानी SPACE दीजिये और फिर अपना मोबाइल नंबर टाइप कीजिये बिना एरिया कोड| उदाहरण 1234567891 | और अब 1900 नंबर पर वह मैसेज भेज दीजिये|

      #2 इस प्रोसेस को करते ही आप के फ़ोन पर एक UPC कोड वाला मेसेज आएगा| इस एसएमएस कोड की मान्यता 15 दिन तक की होगी|

      #3 अब इस UPC कोड को ले कर आप को उस नए सिम ऑपरेटर के पास जाना है जिस का आप नेटवर्क जॉइन करना चाहते हैं| वहां पर जब आप के लिए Portablity का फॉर्म भरा जायेगा उसमें UPC कोड भरना होता है|

      #4 नए सिम ऑपरेटर को ज्वाइन करते समय आप को अपना पासपोर्ट फोटो, आई कार्ड (आधार कार्ड या पैन कार्ड) और घर का बिजली का बिल या गैस बिल की कॉपी साथ रखना है|

      #5 नयी ज्वाइन की हुई सिम ऑपरेटर कंपनी अब आप को नया सिम दे देगी जो की आप को संभाल कर रख लेना है| जैसे ही आप के डॉक्यूमेंट प्रोसेस हो जाते हैं तो आप को उसी दिन portablity confurmation का SMS आ जाता है|

      #6 अब अगले 7 से 15 दिन के भीतर आप का नया सिम एक्टिव हो जायेगा|

      #7 अगर आप किसी कॉर्पोरटे कंपनी के सिम कनेक्शन के लिए पोर्ट करवा रहे हैं तो आप को कंपनी का NOC लेटर नए ऑपरेटर को देना अनिवार्य होगा|

      Related QNA

      SIM Card का मतलब जान लीजिये

      पतंजलि सिम कार्ड से जुडी जानकारी

      नेटवर्क सॉकेट क्या है यह जान लीजिये  

      Mobile से किसी भी नंबर पर Free Call ऐसे करते हैं

      Answered on January 5, 2019.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.