स्टॉक स्प्लिट (Stock Split) क्या होता है?

Share Market में स्टॉक स्प्लिट से क्या मतलब है? Stock Split किस प्रकार से उपयोग में आता है समझाए? इसके क्या फायदे है? कोई कंपनी Stock Split का Use कैसे करती है?

Add Comment
  • 1 Answer(s)

      स्टॉक स्प्लिट क्या है (What is Stock Split)-

      शेयर मार्केट में जब कोई कपंनी अपने स्टॉक की संख्या में वृद्धि करती है लेकिन कंपनी की कुल पूंजी(Total Capital) ने वृद्धि नहीं होती है तो इस प्रक्रिया को स्टॉक स्प्लिट कहते है, स्टॉक स्प्लिट का अर्थ ही स्टॉक का विभाजन है, स्टॉक स्प्लिट एक हद तक बोनस अंश की तरह ही है|

      जब कभी भी कोई कंपनी stock split की घोषणा करती है तो कपंनी में शेयर की संख्या बढ़ जाती है जिससे शेयर की Face Value कम हो जाती है, लेकिन Company की Market Capital और Investment की Price पर कोई असर नहीं पड़ता यानि कंपनी की पूंजी स्थिर रहती है|

      किसी भी कंपनी द्वारा Stock Split एक निश्चित अनुपात में किया जाता है जैसे- 1:1, 1:2, 1:4

      जैसे एक कंपनी के शेयर की Market Price 50 रूपए है, और Face Value 10 रूपए है, कंपनी के पास Total Share 5 लाख है तो इस हिसाब से कंपनी क कुल पूंजी 50,00,000 हुई और बाजार पूंजी 2,50,00,000है|

      अब जब कंपनी 1:1 के Ratio में Stock Split करती है तो कंपनी की Face Value जो पहले 10 रूपए है अब 1:1 अनुपात के कारण कंपनी के शेयर 5 लाख से बढ़कर 10 लाख हो जाएगें और Face Value 10 रूपए से कम होकर 5 रूपए हो जाएगें|

      ऐसा करने से कपंनी के शेयर की संख्या में वृद्धि हो गई है और बाजार पूंजी, कुल पूंजी में कोई बदलाव भी नही हुआ है|

      Stock Split के फायदे-

      • स्टॉक स्पलिट से कंपनी में निवेशकों की वृद्धि होता है, कंपनी के शेयर की मार्केट वैल्यू और फेस वैल्यू दोनों काम हो जाते है, जिससे कंपनी के शेयर नए निवेशको को काफी सस्ते लगते है, और आम निवेशक भी इसमें आसानी से निवेश करते है|
      • शेयर की संख्या ज्यादा होने से कम्पनी के शेयर में लिक्विडिटी की समस्या कम हो जाती है|

      Related Links-

      Answered on September 28, 2018.
      Add Comment

      Your Answer

      By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.